ट्रंप ने फिर साधा चीन पर निशाना, साइबर खतरों को लेकर लगाया राष्ट्रीय आपातकाल

IANS  |   Updated On : May 16, 2019 01:08:31 PM
ट्रंप ने फिर साधा चीन पर निशाना, साइबर खतरों को लेकर लगाया राष्ट्रीय आपातकाल

फाइल फोटो (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  अमेरिकी संचार नेटवर्क को विदेशी दुश्मनों से बचाने के उद्देश्य से राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा
  •  रिपोर्ट्स पर विश्वास करें तो ट्रंप का यह आदेश चीन की टेलीकॉम कंपनी हुआवेई के लिए है
  •  ट्रंप ने पिछले साल एक विधेयक पारित कर चीन की संचार कंपनियों के उत्पादों पर रोक लगाई थी

वॉशिंगटन:  

इराक और चीन के रूप में एक साथ दो-दो मोर्चों पर जूझ रहे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अब अमेरिकी संचार नेटवर्क को विदेशी दुश्मनों से बचाने के उद्देश्य से राष्ट्रीय आपातकाल लगा दिया है. ट्रंप ने अमेरिका की सूचना और संचार प्रौद्योगिकी तथा सेवाओं की रक्षा करने की अपनी प्रतिबद्धता के तहत यह आदेश जारी किया है. माना जा रहा है कि ट्रंप के इस आदेश के निशाने पर भी चीन और उसकी एक प्रमुख कंपनी हुआवेई है. व्हाइट हाउस की प्रैस सचिव सारा सैंडर्स ने एक बयान में कहा कि यह आदेश संघीय सरकार को अमेरिकी कंपनियों को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए अस्वीकार्य जोखिम पैदा करने वाले विदेशी प्रौद्योगिकी आपूर्तिकर्ताओं से व्यापारिक लेन-देन करने से रोकने की शक्ति देता है.

यह भी पढ़ें: ईरान पर अमेरिका करेगा हमला, विमानवाहक पोत और बमवर्षक विमान किया तैनात

सूचना प्रौद्योगिकी के ढांचे को बचाने के लिए उठाया कदम
बयान के अनुसार, ट्रंप ने अमेरिका की सूचना और संचार प्रौद्योगिकी तथा सेवाओं की रक्षा करने की अपनी प्रतिबद्धता के तहत यह आदेश जारी किया है. व्हाइट हाउस ने एक बयान में कहा कि राष्ट्रपति ने यह स्पष्ट कर दिया है कि यह प्रशासन अमेरिका को सुरक्षित और समृद्ध बनाए रखने के लिए और अमेरिका में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के बुनियादी ढांचे में कमजोरी पैदा कर रहे और उनका दुरुपयोग करने वाले विदेशी दुश्मनों से अमेरिका की रक्षा करने के लिए जो कुछ भी जरूरी है वह करेगा.

यह भी पढ़ें: ईरान हॉर्मूज जलडमरूमध्य बंद करता है तो पूरी दुनिया में तेल के लिए मच जाएगा हाहाकार

बयान में आगे लिखा है कि यह आदेश अमेरिका में सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी तथा सेवाओं से संबंधित खतरों को देखते हुए राष्ट्रीय आपातकाल घोषित करता है और वाणिज्य मंत्री को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करने वाले लेन-देन पर प्रतिबंध लगाने का अधिकार देता है. रिपोर्ट्स पर विश्वास किया जाए तो ट्रंप का यह आदेश चीन की प्रमुख टेलीकॉम कंपनी हुआवेई के लिए है. अमेरिका मानता है कि चीन हुआवेई के उपकरणों का उपयोग सर्विलांस के लिए कर सकता है. दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी स्मार्टफोन निर्माता कंपनी ने इन आरोपों को बार-बार खारिज किया है.

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान में मुंबई हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद का साला गिरफ्तार, जानें क्या है मामला

पिछले साल चीन के संचार कंपनियों के उत्पादों पर लगाई थी रोक
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले साल एक विधेयक पारित किया था जिसमें, अमेरिकी सरकार और उसके साथ काम करने वाले लोगों को हुआवेई और चीन की कई अन्य संचार कंपनियों के उत्पादों का उपयोग करने से प्रतिबंधित कर दिया गया था.

First Published: May 16, 2019 12:21:57 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो