मरने से पहले पाकिस्तानी डॉक्टर ने दी थी कोरोना पर ये चेतावनी....फिर क्यों नहीं जाग रहे इमरान

News State Bureau  |   Updated On : March 26, 2020 08:08:41 PM
imran khan

डॉक्टर उसामा रियाज और इमरान खान (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली :  

पाकिस्तान में भी कोरोना वायरस (Coronavirus) ने तबाही मचा रखी है. बावजूद इसके इमरान खान (imran khan) की आंखें नहीं खुल रही है. इमरान खान अपने नागरिकों की जिंदगी से खिलवाड़ करते नजर आ रहे हैं. ना तो इमरान खान ने लॉकडाउन की घोषणा की है और ना ही किसी तरह का कोई ठोस कदम उठाया है.

कोरोना वायरस (coronavirus) कितना खतरनाक है, ये मरने से पहले डॉक्टर उसामा रियाज बता कर गए. पाकिस्तान के डॉक्टर उसामा रियाज अब इस दुनिया में नहीं है. लेकिन उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. ये उस वक्त का वीडियो है जब कोरोना से पीड़ित उसामा रियाज अस्पताल में भर्ती थे.

इस वीडियो में उसामा रियाज कह रहे हैं, इस वायरस को मजाक न समझें, ये मजाक नहीं है, बहुत खतरनाक वायरस है.. खाने-पीने की चीजों के पीछे न भागें, अगर आपमें लक्षण हैं तो खुद को घर में बंद कर लें या करीबी डॉक्टर से मिलें, हिदायत पर अमल करें, लोगों ने हर जगह इसका मजाक बनाया हुआ है, ये मजाक नहीं है.

उसामा रियाज ने और क्या कुछ कहा वो आप इस वीडियो में सुनिए-

उसामा रियाज उस 10 सदस्यों वाली डॉक्टरों की टीम का हिस्सा थे जो ईरान से वापस लौटे पाकिस्तानी लोगों की जांच में जुटी थी. उन्हीं में से एक मरीज के संपर्क में आने के बाद उसामा को कोरोना वायरस का संक्रमण हुआ.जिसकी वजह से उनकी मौत हो गई. बताया जा रहा है कि उसामा के पास जांच के दौरान जरूरी मास्क और ग्लव्स भी नहीं थे जिसकी वजह से वो संक्रमित हो गए.

किसके कहने पर इमरान खान नहीं कर रहे लॉकडाउन

सवाल यह है कि जिस कोरोना वायरस से पूरी दुनिया तबाह हो रही है उसे लेकर इमरान खान इतने लापरवाह कैसे हो सकते हैं. पाकिस्तान के अखबार डॉन की मानें तो पाकिस्तान के बड़े उद्योगपतियों ने इमरान सरकार को लॉकडाउन नहीं करने की सलाह दी थी. उन्हें डर था कि लॉकडाउन की वजह से उनका बड़ा नुकसान होगा. उद्योपतियों की बात मानकर इमरान सरकार करोड़ो पाकिस्तानियों की जिंदगी दांव पर लगा दी.

इमरान खान की खुल रही पोल

बता दें कि इससे पहले जब चीन के वुहान में कोरोना के केस सामने आने शुरू हुए थे तो भारत ने जहां विशेष विमान भेजकर वहां पढ़ रहे अपने छात्रों को वापस बुला लिया था पर इमरान सरकार ने पाकिस्तानी छात्रों को उनके हाल पर मरने के लिए वहीं छोड़ दिया था. पाकिस्तान के हालात बेहद खराब हो रहे हैं. इसके बावजूद इमरान खान ने लॉकडाउन तो नहीं किया लेकिन सेना की तैनाती जरूर कर दी है. पाकिस्तान में अभी कोरोना के कुल 1,128 मामले सामने आए हैं. जिसमें से 8 की मौत हो चुकी है.

First Published: Mar 26, 2020 08:08:41 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो