दुनिया हिलाने के बाद चीन ने लिया सबक, जंगली जानवर-कीड़े-मकौड़े खाने पर लगेगा बैन

News State  |   Updated On : March 27, 2020 07:58:15 AM
China Eating Habits

चीन में जंगली जानवरों और कीड़े-मकौड़े खान पर लगेगी रोक. (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

ख़ास बातें

  •  चीन में जंगली जानवरों-कीड़े-मकोड़ों के शिकार और खाने पर रोक की तैयारी.
  •  इसके लिए बीजिंग प्रशासन ने कई नियम-कायदों का ड्राफ्ट तैयार किया है.
  •  नियम का उल्लंघन करने पर मारे गए जानवर का दो से 15 गुना जुर्माना लगाया जाए.

बीजिंग:  

दुनिया में तबाही मचाने वाले कोरोना वायरस (Corona Virus) से सबक लेते हुए अब बीजिंग ने जंगली जानवरों और कीड़े-मकोड़ों के शिकार और खाने पर रोक लगाने की तैयारी की है. इसके लिए बीजिंग प्रशासन ने कई नियम-कायदों का ड्राफ्ट तैयार किया है. भले ही अभी कोरोना वायरस के सोर्स का आधिकारिक तौर पर पता नहीं चला है मगर बीजिंग प्रशासन को आशंका है कि जंगली जानवरों (Wild Animals) से यह घातक वायरस फैला. ऐसे में बीजिंग प्रशासन ने एक कड़ा ड्राफ्ट तैयार किया है. जंगली जानवरों वाले क्षेत्रों मे वन्यजीव रोग निगरानी स्टेशन भी स्थापित किए जाने की तैयारी है. इससे पहले नेशनल पीपुल्स कांग्रेस की स्थायी समिति ने भी अवैध वन्यजीव व्यापार पर प्रतिबंध लगाने और जंगली जानवरों को खाने की आदतों को खत्म करने का निर्णय लिया था.

यह भी पढ़ेंः दुनिया कोरोना से जूझ रही है और पाकिस्तान को कश्मीर की पड़ी है

ला रहे नया कानून
बीजिंग डेली की रिपोर्ट के मुताबिक, बीजिंग म्युनिसिपल पीपुल्स कांग्रेस की दो महीने पहले ही गुरुवार को बैठक बुलाई गई. इस 15वीं स्थाई समिति की मीटिंग में जानवरों को खाने और उनके शिकार पर रोक लगाने से जुड़े ड्राफ्ट पर चर्चा हुई. दरअसल, बीजिंग के कई क्षेत्रों में काफी जंगली जानवर रहते हैं. पांच सौ से अधिक जानवर हैं. तैयार ड्राफ्ट के मुताबिक राजधानी के किसी भी हिस्से में वर्षभर जानवरों के शिकार पर रोक लगेगी. जो नियमों का उल्लंघन करेगा उस पर जुर्माना भी लगेगा. ड्राफ्ट में न सिर्फ जंगली बल्कि मानव आबादी के बीच रहने वाले जानवरों के भी शिकार और खाने पर रोक लगेगी और इनका व्यापार भी प्रतिबंधित रहेगा.

यह भी पढ़ेंः फतवे व राष्ट्रपति की अपील के बावजूद पाकिस्तानी उलेमा मस्जिदें बंद न करने पर अड़े

जुर्माने का भी प्रावधान
बीजिंग म्युनिसिपल पीपुल्स कांग्रेस की ग्रामीण कमेटी ने सुझाव दिया है कि नियम का उल्लंघन करने पर मारे गए जानवर का दो से 15 गुना जुर्माना लगाया जाए. हालांकि, कोविड-19 का सोर्स अभी तक निर्धारित नहीं हुआ है, लेकिन शोधकर्ताओं का मानना है कि 70 प्रतिशत अधिक नए संक्रामक रोक जंगली जानवरों से उत्पन्न हुए हैं. नतीजतन, उन क्षेत्रों में वन्यजीव रोग मॉनिटर स्टेशन स्थापित करने की योजना है, जहां बीमारी फैलने का खतरा ज्यादा है. अगर कोई जानवरों का शिकार कर उसे खाने की कोशिश करेगा तो कोई भी व्यक्ति सूचना दे सकता है.

यह भी पढ़ेंः डरिए और घर में रहिएः कोरोना लॉकडाउन के दूसरे दिन 8 मौतें और 88 नए मामले, दुनिया में 22 हजार मरे | LIVE UPDATES

दुनिया भर में 22 हजार मरे
गौरतलब है कि कोरोना वायरस से दुनिया भर में जानलेवा कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की तादाद बढ़कर पांच लाख से अधिक हो गई है और 22,000 के अधिक लोग इस महामारी का शिकार बनकर दम तोड़ चुके हैं. दुनियाभर में कोरोना पीड़ित मरीजों जो ठीक हो चुके हैं, उनकी संख्या तकरीबन 1.21 लाख हो चुकी है. अमेरिका में एक अकेले दिन में 17 हजार नए मामले सामने आने से वह प्रभावित देशों में शीर्ष पर आ रहा है. इधर स्पेन में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की संख्या चीन में हुई मौतों के आंकड़ों को भी पार कर गई है. वॉशिंगटन की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के अनुसार इस घातक वायरस से स्पेन में अब तक 3,647 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि चीन में यह आंकड़ा 3,291 है.

First Published: Mar 27, 2020 07:58:15 AM

न्यूज़ फीचर

वीडियो