जम्मू-कश्मीर पर पाकिस्तान को मिला चीन का साथ, UN में बैठक बुलाने की मांग की

भाषा  |   Updated On : August 15, 2019 07:20:13 PM
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पाकिस्तान पीएम इमरान खान (फाइल फोटो)

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग और पाकिस्तान पीएम इमरान खान (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  चीन ने कश्मीर मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाने की मांग की
  •  UNSC अध्यक्ष पोलैंड अन्य सदस्यों से चर्चा के करेगा इसपर फैसला
  •  पाकिस्तान ने भी कश्मीर मुद्दे पर UNSC आपात बैठक बुलाने की मांग की है

नई दिल्ली:  

चीन ने एक बार फिर से रंग बदला है और जम्मू-कश्मीर के मसले पर पाकिस्तान का साथ देता नजर आ रहा है. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म करने पर पाकिस्तान इस मामले को संयुक्त राष्ट्र (UN) में उठाने की कोशिश कर रहा है. अब चीन भी पाकिस्तान का साथ देते हुए यही मांग की है. पाकिस्तान ने कश्मीर मसले पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की आपात बैठक बुलाने की मांग की है.

चीन ने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने के भारत के फैसले पर चर्चा के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाने की मांग की है. यहां एक वरिष्ठ राजनयिक ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि पेइचिंग के करीबी सहयोगी पाकिस्तान ने इस बारे में अगस्त महीने में सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष पोलैंड को पत्र लिखा था. संयुक्त राष्ट्र राजनयिक ने बताया कि बैठक बुलाने का अनुरोध हाल ही में किया गया, हालांकि बैठक के लिए कोई समय तय नहीं किया गया है.

इसे भी पढ़ें:आजादी के दिन सीजफायर उल्लंघन पर भारत ने पाक को दिया मुंहतोड़ जवाब, 3 जवान मार गिराए

उन्होंने कहा, ‘चीन ने सुरक्षा परिषद की कार्यसूची में शामिल भारत-पाकिस्तान सवाल पर चर्चा की मांग की है. यह मांग पाकिस्तान की ओर से सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष को लिखे पत्र के संदर्भ में की गई है.’ हाल ही में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि उनके देश ने जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त करने के भारत के फैसले पर चर्चा के लिए सुरक्षा परिषद की आपात बैठक बुलाने की औपचारिक मांग की है.

राजनयिक ने बताया कि चीन ने भी सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाने के लिए औपचारिक रूप से अनुरोध किया है, लेकिन पोलैंड को बैठक की तारीख और समय तय करने से पहले अन्य सदस्यों से परामर्श करना होगा. अधिकारी ने कहा कि अभी तक बैठक के समय को लेकर कोई अंतिम फैसला नहीं किया है पर शुक्रवार की सुबह सबसे नजदीकी विकल्प है.

और पढ़ें:प्रियंका गांधी ने शेयर की बचपन की तस्वीर, राहुल को बताया दुनिया का सबसे अच्छा भाई, देखें फोटो

बता दें कि विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को पेइचिंग में चीन के विदेश मंत्री वांग यी के साथ हुई द्विपक्षीय मुलाकात में स्पष्ट किया था कि जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म करने का फैसला भारत का आंतरिक मामला है. उन्होंने कहा था कि यह बदलाव बेहतर प्रशासन और क्षेत्र के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए है एवं फैसले का असर भारत की सीमाओं और चीन के साथ लगती वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर नहीं पड़ेगा. लेकिन चीन फिर से अपने बातों से मुकरता दिखाई दे रहा है.

First Published: Aug 15, 2019 07:20:13 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो