BREAKING NEWS
  • Today History: आज ही के दिन Howard University की स्थापना की गई थी, जानें आज का इतिहास- Read More »
  • Horoscope, 20 November: जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन, पढ़िए 20 नवंबर का राशिफल- Read More »
  • हरियाणा सरकार करवाना चाहती है राम रहीम-हनीप्रीत मुलाकात, जानिए क्या है वजह- Read More »

अल कायदा का साउथ एशिया चीफ मारा गया, संभल का रहनेवाला था

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : October 09, 2019 02:22:01 PM
अल कायदा साउथ एशिया चीफ आसिम उमर

अल कायदा साउथ एशिया चीफ आसिम उमर (Photo Credit : Twitter )

नई दिल्‍ली :  

कुख्‍यात आतंकी संगठन अल कायदा (Al Qayada) का साउथ एशिया प्रमुख (South Asia Chief) आसिम उमर (Asif Omar) को अमेरिका-अफगानिस्‍तान (America-Afganistan) के संयुक्‍त ऑपरेशन (Joint Operation) में मार गिराया गया है. 2014 में अल कायदा (Al Qayayda) की साउथ एशिया ब्रांच की स्‍थापना की गई थी. तब से आसिम उमर (Asif Omar) ही इसका प्रमुख था. दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट (Patiyala House Court) ने आसिम उमर को भगोड़ा घोषित किया हुआ है. अल कायदा इंडिया मॉड्यूल (Al Qayada India Module) के कई आतंकियों की 2016 में गिरफ्तारी के बाद पटियाला हाउस कोर्ट में चार्जशीट (Chargesheet) दाखिल की गई थी. इसमें आसिम उमर उर्फ सनाउल हक़ (Sana ul Haq) का नाम भी था. आसिम उमर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के संभल (Sambhal) के दीपा सराय इलाके का रहने वाला था.

यह भी पढ़ें : क्‍या सोनिया और राहुल गांधी के बीच शीतयुद्ध में पिस रही हैं प्रियंका गांधी वाड्रा?

दूसरी ओर, उत्‍तर प्रदेश के एडीजी पीवी रामाशास्‍त्री का कहना है कि उन्हें भी ऐसी जानकारी समाचार पत्रों के माध्यम से मिली है और पुलिस जांच कर रही है. आसिम उमर का इतिहास खंगाला जा रहा है. अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय ने एक ट्वीट के जरिए बताया कि पाकिस्तानी नागरिक और एक्यूआईएस के सरगना आसिम उमर समेत छह आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया है. अफगानिस्‍तान के दक्षिणी हेलमंद प्रांत के तालिबान के प्रभाव वाले मूसा जिले में अमेरिकी और अफगानी सुरक्षाबलों ने 22 और 23 सितंबर की रात में यह कार्रवाई की.

यह भी पढ़ें : आर्थिक मंदी का सर्वाधिक असर भारत में होगा, IMF प्रमुख ने चेताया

2014 में आसिम उमर अल कायदा का सदस्‍य बना था. भारतीय उपमहाद्वीप में आतंकी गतिविधियों के विस्तार की जिम्‍मेदारी उसे दी गई थी. तब से वह अल कायदा के आतंकियों को संगठित करने और उन्हें हथियार उपलब्ध कराने के काम में जुटा था. मारे गए अन्‍य आतंकियों में पाकिस्‍तानी आतंकी रेहान भी शामिल है, जो अल कायदा के अयमन अल जवाहिरी के लिए मुखबिरी का काम करता था. 

First Published: Oct 09, 2019 02:22:01 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो