स्पेन में महिलाएं रोजाना बिना सैलरी छह घंटे करती हैं काम, हुई नारीवादी हड़ताल

स्पेन में महिलाओं को रोजाना 13 घंटे काम करना पड़ता है लेकिन उन्हें पारिश्रमिक सिर्फ 7.3 घंटे का मिलता है।

  |   Updated On : March 09, 2018 01:20 PM
स्पेन में महिलाएं रोजाना बिना सैलरी छह घंटे करती हैं काम

स्पेन में महिलाएं रोजाना बिना सैलरी छह घंटे करती हैं काम

मैड्रिड:  

स्पेन में महिलाओं को रोजाना 13 घंटे काम करना पड़ता है लेकिन उन्हें पारिश्रमिक सिर्फ 7.3 घंटे का मिलता है। यह बात ईएई बिजनेस स्कूल की रिपोर्ट से सामने आई है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, प्रोफेसर लॉरा सैगनियर की ओर से किए गए एक अध्ययन में बताया गया है कि स्पेन में महिलाओं को कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ता है। उन्हें खासतौर से बच्चों की देखभाल समेत घरेलू काम के लिए पारिश्रमिक नहीं दिया जाता है।

अध्ययन में शामिल 2,400 महिलाओं ने घर को एक बड़ा मसला बताया है। उनका कहना है कि आय में अंतर के बावजूद उन्हें परिवार के खर्च में 42 फीसदी योगदान करना होता है।

बच्चे होने पर महिलाओं की मुसीबत और बढ़ जाती है। मां को घर के काम में 76 फीसदी योगदान देना पड़ता है जबकि पिता सिर्फ 24 फीसदी योगदान देते हैं।

यह रिपोर्ट स्पेन में गुरुवार को हुई ऐतिहासिक नारीवादी हड़ताल के एक दिन पहले प्रकाशित हुई है।

महिलाओं के विरोध की वजह यह है कि एक ही प्रकार के काम के लिए पुरुषों को ज्यादा तन्ख्वाह मिलती है जबकि महिलाओं को कम वेतन दिया जाता है।

महिलाओं की यह हड़ताल लैगिक हिंसा, यौन दुराचार आदि को लेकर भी थी।

इसे भी पढ़ें: पालघर में केमिकल फैक्ट्री में लगी भीषण आग, तीन की मौत

 

First Published: Friday, March 09, 2018 01:06 PM

RELATED TAG: Spain, Salary Discrimination,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो