जीएसटी और नोटबंदी लागू करने को लेकर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- देश की अर्थव्यवस्था को किया चौपट

राहुल ने कहा कि पीएम मोदी की नीतियों ने भारत की अर्थव्यस्था को कमज़ोर करने का काम किया है। राहुल ने नोटबंदी और जीएसटी लागू करने को लेकर पीएम मोदी की आलोचना की।

News State Bureau  |   Updated On : August 23, 2018 12:23 AM
जीएसटी और नोटबंदी लागू करने को लेकर (पीटीआई)

जीएसटी और नोटबंदी लागू करने को लेकर (पीटीआई)

नई दिल्ली:  

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बुधवार को जर्मनी के हैम्बर्ग स्थित बुसेरियस समर स्कूल में छात्रों को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी की नीतियों ने भारत की अर्थव्यस्था को कमज़ोर करने का काम किया है। राहुल ने नोटबंदी और जीएसटी लागू करने को लेकर पीएम मोदी की आलोचना की। वहीं मॉनसून सत्र के दौरान पीएम मोदी को गले लगाने पर राहुल गांधी ने कहा कि मैंने उनको गले लगाकर नफरत का जवाब प्यार से दिया है। उन्होंने कहा कि सिर्फ भारत ही नहीं, बल्कि पूरी दुनिया में लोगों को नफरत की बजाय चर्चा करनी चाहिए। वहीं राहुल गांधी से जब नफरत फैलाने वाले भाषण और राजनीति करने को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि भारतीय का मतलब ही अहिंसक है।

अमेरिका के साथ संबंधों के लेकर राहुल ने कहा, 'अमेरिका के साथ भारत के सामरिक संबंध हैं, और हम उनके साथ लोकतंत्र जैसे कुछ विचार साझा करते हैं। लेकिन चीन बहुत तेजी से बढ़ रहा है। भारत की भूमिका इन दो शक्तियों को संतुलित करने की है।'

मुख्य बातें :

# भारत में यदि हम सभी लोगों रोज़गार दे पाते हैं तो जनसंख्या अपने आप में कोई समस्या नहीं है: राहुल गांधी

# यदि हम महिलाओं को शामिल नहीं करते हैं तो देश का निर्माण नहीं कर सकते। भारतीय पुरुषों को महिलाओं को अपने बराबर देखना होगा: राहुल गांधी

# जब मैं संसद और राजनीतिक दलों को देखता हूं, तो वहां महिला प्रतिनिधि काफी कम दिखाई देती हैं। हम महिला आरक्षण के लिए विधेयक लेकर आये हैं, लेकिन,ये पूरी तरह से सामाजिक मुद्दा है: राहुल गांधी

# भारत और चीन के बीच कोई होड़ नहीं है। हो सकता है कि चीन भारत की तुलना में तेज़ी से बढ़ रहा हो, लेकिन भारत में लोग जो चाहते हैं वो व्यक्त कर सकते हैं, और यही मायने रखता है: राहुल गांधी

# शरणार्थियों के अपमान का कारण कामगारों के बीच नौकरियों की कमी होना है। इससे घृणा और टकराव पैदा हो रहा है: राहुल गांधी

# अमेरिका के साथ भारत के सामरिक संबंध हैं, और हम उनके साथ लोकतंत्र जैसे कुछ विचार साझा करते हैं। लेकिन चीन बहुत तेजी से बढ़ रहा है। भारत की भूमिका इन दो शक्तियों को संतुलित करने की है: राहुल गांधी

# 1991 में मेरे पिता को आतंकवादी ने मार डाला था। जब कुछ साल बाद उस आतंकवादी की मृत्यु हो गई, तो मैं खुश नहीं हुआ। मैंने खुद को उसके बच्चों में देखा: राहुल गांधी

# मैंने हिंसा को झेला है और मैं आपको बता सकता हूं, कि इससे निकलने का एकमात्र तरीका है - माफ करना। और माफ़ करने के लिए आपको यह समझना होगा कि ये कहां से आ रही है: राहुल गांधी

# आपस में जुड़ी दुनिया में आपको सुनना होगा कि दूसरे क्या कह रहे हैं और वे कहां से आ रहे हैं। मैं किसी व्यक्ति से लड़ सकता हूं और उससे असहमत हो सकता हूं। लेकिन, नफरत खतरनाक चीज है: राहुल गांधी

# यदि आप लोगों को गले नहीं लगाते और उन्हें कोई दृष्टि नहीं देते, तो कोई और ऐसा करेगा और हो सकता है कि वो विचार आपके लिए अच्छा न हो: राहुल गांधी

# कुछ साल पहले, प्रधानमंत्री जी ने भारतीय अर्थव्यवस्था में नोटबंदी का फैसला किया और एमएसएमई के नकद प्रवाह को बर्बाद कर दिया, अनौपचारिक क्षेत्र में काम करने वाले लाखों लोग बेरोजगार हो गये: राहुल गांधी

# दलितों, अल्पसंख्यकों, आदिवासियों को अब सरकार से कोई फायदा नहीं मिलता। उनको फायदा देने वाली सारी योजनाओं का पैसा चंद बड़े कॉर्पोरेट के पास जा रहा है : राहुल गांधी

# बड़ी संख्या में छोटे व्यवसायों में काम करने वाले लोगों को वापस अपने गाँव लौटने को मजबूर होना पड़ा। इससे लोग काफी नाराज़ हैं। लिंचिंग के बारे में जो कुछ भी हम सुनते हैं वो इसी का परिणाम है: राहुल गांधी

# कुछ साल पहले, प्रधानमंत्री जी ने भारतीय अर्थव्यवस्था में नोटबंदी का फैसला किया और एमएसएमई के नकद प्रवाह को बर्बाद कर दिया, अनौपचारिक क्षेत्र में काम करने वाले लाखों लोग बेरोजगार हो गये: राहुल गांधी

# दलितों, अल्पसंख्यकों, आदिवासियों को अब सरकार से कोई फायदा नहीं मिलता। उनको फायदा देने वाली सारी योजनाओं का पैसा चंद बड़े कॉर्पोरेट के पास जा रहा है: राहुल गांधी

# रोजगार गारंटी योजना, भोजन का अधिकार, सूचना का अधिकार, बैंकों का राष्ट्रीयकरण ये कुछ ऐसे विचार थे जो सभी सरकारें करना चाहती हैं, लेकिन अब ये विचार काफी हद तक नष्ट हो गए हैं: राहुल गांधी(Rahul Gandhi)

# अगर भारत को इस जोखिम भरे बदलाव से गुज़रना पड़ा, तो हम चाहते थे कि सभी समुदायों और भाषाओं को इस बदलाव में शामिल किया जाए: राहुल गांधी

# आधुनिकता और शहरीकरण का विचार चीन की तरह ही था। लेकिन भारत में यह तरीका अलग था; यह बुनियादी था: राहुल गांधी

# भारत में धीरे-धीरे बदलाव शुरु हुआ। ये बदलाव जाति आधारित सोच को खत्म कर रहा था और ‘एक व्यक्ति, एक मत’ के विचार को बढ़ावा दे रहा था: राहुल गांधी

# 70 साल पहले भारत एक ग्रामीण देश था, यहां लोग जाति आधारित समाज में रहते थे। ज्यादातर गावं जाति के आधार पर बंटे हुए थे: राहुल गांधी(Rahul Gandhi)

और पढ़ें- अखिलेश यादव ने कहा, भगवान विष्णु का भव्य मंदिर बनाएंगे

# मैं बुसेरियस समर स्कूल का छात्र था। वो दिन काफी बढ़िया थे और मैंने यहां बहुत कुछ सीखा: राहुल गांधी(Rahul Gandhi)

First Published: Wednesday, August 22, 2018 10:19 PM

RELATED TAG: Rahul Gandhi Live Speech At Bucerius Summer School In Germany Modi Govt Economy Demonetisation Gst,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो