BREAKING NEWS
  • Petrol Diesel Price 20th May, 2019: एग्‍जिट पोल (Exit Poll) के बाद पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े, जानें किस शहर में क्या है रेट- Read More »
  • West Bengal Board Result 2019 : कल घोषित होगा पश्चिम बंगाल बोर्ड 10वीं का रिजल्ट, ऐसे करें चेक- Read More »
  • Rajasthan Board BSER 12th Arts Result 2019: राजस्थान बोर्ड (RBSE) 12वीं आर्ट स्ट्रीम का रिजल्ट, यहां करें चेक- Read More »

अमेरिकी सांसद ने भारत का किया समर्थन, ट्रंप के खिलाफ खोला मोर्चा, जानें क्या है मामला

news state bureau  |   Updated On : May 04, 2019 06:56 AM
डोनाल्ड ट्रंप और पीएम मोदी (फाइल फोटो)

डोनाल्ड ट्रंप और पीएम मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

अमेरिका ने भारत के खिलाफ लगातार रुख अख्तियार किए हुए है. पिछले कुछ समय से अमेरिका भारत के खिलाफ फैसले ले रहे हैं. कुछ दिन पहले अमेरिका ने भारत को दी जाने वाली GSP (जेनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रेफरेंस) की सुविधा छीन ली थी. इसका प्रभाव ये होगा कि भारत जिन प्रोडक्ट को अमेरिका में बेचेगा उस पर ट्रंप सरकार टैक्स लगाएगी. लेकिन ट्रंप सरकार के इस फैसले का अमेरिका सांसद ने विरध करना शुरू कर दिया है. दरअसल, अमेरिका के 25 प्रभावशाली सांसदों ने ट्रंप सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. 

सांसदों ने ट्रंप से भारत के लिए जीएसपी समाप्त नहीं करने की अपील की है. उन्होंने कहा कि इसका अमेरिकी कंपनियों पर प्रतिकूल प्रभाव होगा. सांसदों ने अमेरिकी व्यापार प्रतिनिधि रॉबर्ट लाइटहाइजर को पत्र लिखकर समझौते पर बातचीत जारी रखने का अनुरोध किया है. यह समझौता व्यापार (निर्यात और आयात) पर निर्भर नौकरियों की रक्षा करेगा और बढ़ावा देगा. सांसदों ने आग्रह किया कि भारत के लिए जीएसपी समाप्त करने से वे अमेरिकी कंपनियां प्रभावित होंगी जो भारत में अपना निर्यात बढ़ाना चाहती हैं.

लाभ नहीं होगा नुकसान

सांसदों का दावा है कि भारत के लिए जीएसपी खत्म करने से लाभ नहीं बल्कि नुकसान होगा. वे कंपनियां प्रभावित होंगी जो भारत में निर्यात बढ़ाना चाहती हैं. सांसदों का कहना है कि वे कंपनियां जो जीएसपी के तहत भारत के लिए शुल्क-मुक्त व्यवस्था चाहती हैं. उन्हें नए करों के रूप में करोड़ों डॉलर देने होंगे. इतिहास में जीएसपी लाभों में अस्थायी खामियों की वजह से अमेरिका में कंपनियों को कर्मचारियों की छंटनी, वेतन और लाभ में कटौती करनी पड़ी थी.

ट्रंप ने क्या लिया था फैसला

दरअसल, बीते मार्च में अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप ने भारत के साथ GSP समाप्‍त करने का ऐलान किया था. भारत के केमिकल्स और इंजीनियरिंग जैसे सेक्टरों के करीब 1900 छोटे-बड़े प्रोडक्‍ट पर GSP का फायदा मिलता है. 

पहले भारतीय बाजार से ये प्रोडक्‍ट अमेरिकी बाजार में बिना किसी टैक्‍स या मामूली ड्यूटी चार्ज के पहुंचते हैं. वहीं भारत जीएसपी के तहत अमेरिका को 5.6 अरब डॉलर (करीब 40 हजार करोड़ रुपये) के सामानों का निर्यात करता है.

First Published: Friday, May 03, 2019 07:29 PM

RELATED TAG: Indo America Relation, India, America, Gsp, American Senate, Donald Trump, Pm Modi,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटरऔरगूगल प्लस पर फॉलो करें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो