Ayodhya dispute: हाई अलर्ट पर अयोध्या, राम भक्तों को मंदिर का इंतजार

Oct 14, 2019 | 06:51 PM

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने योगी सरकार (Yogi Government) को यूपी सुन्नी वक्फ बोर्ड के चैयरमैन ज़फर फारूकी को सुरक्षा मुहैया कराने को कहा. ज़फर फारूकी ने मध्यस्थता पैनल के सदस्य श्रीराम पंचू को अपनी जान के खतरे की जानकारी दी थी. इसके बाद श्रीरामपंचू ने सीजेआई को खत लिखकर फ़ारूक़ी को खतरे के अंदेशे की जानकारी दी थी. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने यूपी सरकार को फारूकी को सुरक्षा मुहैया कराने को कहा है.बता दें कि रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई का आखिरी दौर शुरू हो गया है. 17 अक्टूबर को इस मामले में सुनवाई खत्म हो जाएगी. सोमवार को मुस्लिम पक्ष की ओर से वकील धवन ने कहा कि वहां नमाज पढ़े जाने से रोके जाने से मुस्लिमों का दावा कमज़ोर नहीं हो जाता. मुस्लिम पक्ष का हमेशा से वहां दावा रहा है. अगर ऐसा न होता तो फिर हिंदू पक्ष को 1934 में एक गुम्बद को गिराने या फिर 1949 में जबरन मूर्ति रखे जाने की क्या ज़रूरत थी. हिंदू पक्ष ये भी साबित नहीं कर पाया कि भगवान राम अंदरुनी हिस्से में गुम्बद के नीचे पैदा हुए थे.धवन ने कहा कि बाबरी मस्जिद का विध्वंस करने के लिए रामजन्मभूमि न्यास का गठन किया गया.

Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

फोटो