'कार सेवकों' पर गोली चलाने के आदेश के लिए मुलायम सिंह पर केस को लेकर SC में अर्जी

उत्तर प्रदेश में साल 1990 में मुख्यमंत्री रहे मुलायम सिंह यादव पर अयोध्या में 'कार सेवकों' पर गोली चलाने के आदेश दिए जाने के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है।

  |   Updated On : November 08, 2017 05:27 AM
समाजवादी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव (फाइल फोटो)

समाजवादी पार्टी के पूर्व अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश में साल 1990 में मुख्यमंत्री रहे मुलायम सिंह यादव पर अयोध्या में 'कार सेवकों' पर गोली चलाने के आदेश दिए जाने के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई है। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए आंदोलन के सिलसिले में कार सेवक शहर में इकट्ठा हुए थे।

लखनऊ जिले के निवासी याचिककर्ता राणा संग्राम सिंह ने 3 मई, 2016 को इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ पीठ के आदेश को चुनौती दी थी, जिसने इस मामले पर उनकी याचिका खारिज कर दी थी।

इस मामले पर उनकी याचिका मुख्य मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट और अतिरिक्त जिला और सत्र न्यायाधीश के समक्ष 28 अगस्त, 2014 और 11 फरवरी, 2016 को क्रमश: खारिज कर दिया गया था।

ये भी पढ़ें: दिल्ली में सांस लेना मुश्किल, सुप्रीम कोर्ट ने मेट्रो किराया घटाने और ईंट भट्ठे को बंद करने का दिया आदेश

याचिकाकर्ता चाहता था कि मुलायम सिंह यादव द्वारा गोंडा में 6 फरवरी, 2014 को सार्वजनिक बैठक में दिए बयान, जिसमें मुलायम ने कहा था कि 30 अक्टूबर, 1990 को उन्होंने पुलिस को गोलीबारी का आदेश दिया था, जिसमें कई लोग मारे गए थे, के आधार पर उनसे पूछताछ की जाए। इसके अगले दिन समाचार पत्रों में उनके इस बयान को प्रमुखता से उठाया गया था।

याचिकाकर्ता ने कानून का हवाला देते हुए सवाल उठाया कि कोई मुख्यमंत्री पुलिस को गोलीबारी का आदेश कैसे दे सकता है।

ये भी पढ़ें: नोटबंदी के बाद ATM हुए खाली तो PAYTM हो गया था मालामाल

First Published: Wednesday, November 08, 2017 03:20 AM

RELATED TAG: Firing On Karsewaks, Mulayam Singh Yadav, Ayodhya,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो