मायावती और अखिलेश यादव के प्रेस कांफ्रेंस की 10 बड़ी बातें

मायावती ने शनिवार को बहुप्रतीक्षित प्रेस कांफ्रेंस को पहले संबोधित करते हुए लोकसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे की घोषणा कर दी.

News State Bureau  |   Updated On : January 12, 2019 06:45 PM
मायावती और अखिलेश यादव के प्रेस कांफ्रेंस की 10 बड़ी बातें

मायावती और अखिलेश यादव के प्रेस कांफ्रेंस की 10 बड़ी बातें

नई दिल्ली:  

मायावती ने शनिवार को बहुप्रतीक्षित प्रेस कांफ्रेंस को पहले संबोधित करते हुए लोकसभा चुनाव के लिए सीटों के बंटवारे की घोषणा कर दी. सपा से गठबंधन को पवित्र बताते हुए कहा, मायावती ने कहा, सपा और बसपा 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी. दो सीटें छोटी पार्टियों के लिए और दो सीटें अमेठी और रायबरेली कांग्रेस के लिए छोड़ी गई है. वहीं सपा और बसपा द्वारा लखनऊ में बुलाई गई प्रेस कांफ्रेंस में अखिलेश यादव ने कहा, समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता आज से ये बात गांठ बांध लें कि अगर BJP के लोग मायावती जी का अपमान करते हैं तो वो मेरा अपमान होगा. आइए जानते हैं प्रेस कांफ्रेंस की बड़ी बातें: 

  • मायावती ने शनिवार को सपा से गठबंधन को पवित्र बताते हुए कहा, सपा और बसपा 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी. दो सीटें छोटी पार्टियों के लिए और दो सीटें अमेठी और रायबरेली कांग्रेस के लिए छोड़ी गई है.
  • मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह पर बड़ा हमला बोला. उन्‍होंने प्रेस कांफ्रेंस को मोदी-शाह की जोड़ी की नींद उड़ाने वाली प्रेस कांफ्रेंस करार दिया.
  • मायावती ने कहा, देशहित में वह लखनऊ के गेस्‍ट हाउस कांड को पीछे छोड़ रही हैं और समाजवादी पार्टी से एक बार फिर रिश्‍ता जोड़ने जा रही हैं.
  • मायावती बोलीं- हमारा गठबंधन राजनीतिक क्रांति लाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गलत नीतियों से जनता परेशान है. नोटबंदी और जीएसटी से लोगों की कमर टूट है.
  • कांग्रेस पर हमला बोलते हुए मायावती ने कहा, उसके लंबे शासनकाल में गरीब और मजदूर परेशान रहे. कांग्रेस शासन में देश में गरीबी बढ़ी.
  • मायावती ने कहा, बोफोर्स में कांग्रेस गई थी, राफेल में बीजेपी जाएगी. कांग्रेस ने घोषित इमरजेंसी की और बीजेपी ने अघोषित.
  • माया बोलीं, कांग्रेस पार्टी से चुनावी गठबंधन करने से खास लाभ नहीं मिलेगा. कांग्रेस से गठबंधन करने से वोट ट्रांसफर नहीं होता. यह कड़वा अनुभव 1996 के चुनावों में कांग्रेस से गठबंधन करके देखा है. सपा का भी कांग्रेस से गठबंधन का अच्‍छा अनुभव नहीं रहा है.
  • उन्‍होंने कहा, ईवीएम ठीक से चला तो बीजेपी हार जाएगी. बीजेपी सीबीआई का गलत उपयोग करती है और सीबीआई का गलत इस्‍तेमाल करते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव को खनन घोटाले में घसीटने की कोशिश की.
  • प्रेस कांफ्रेंस में अखिलेश यादव ने कहा, समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता आज से ये बात गांठ बांध लें कि अगर BJP के लोग मायावती जी का अपमान करते हैं तो वो मेरा अपमान होगा.
  • पीएम पद को लेकर सवाल टाल गए अखिलेश यादव, बोले- प्रधानमंत्री यूपी से ही मिलेगा. मुझे गर्व है कि अब तक ज्यादातर प्रधानमंत्री यूपी ने दिए हैं. आगे भी उत्तर प्रदेश से ही प्रधानमंत्री मिलेंगे.
  • अखिलेश यादव ने कहा, हम समाजवादी लोग हैं. हमारी खासियत है कि हम सबके सुख दुख में शामिल होते हैं. मैंने बीजेपी के अहंकार को हराने के लिए कहा था, गठबंधन करने के लिए मुझे दो कदम पीछे भी हटना पड़े तो हटूंगा.
  • उन्‍होंने कहा, यूपी के सभी सीटों पर एसपी-बीएसपी चुनाव लड़कर बीजेपी को बाहर करेगी. बीजेपी समाज में नफरत का जहर घोल रही है. हालात इतने खराब हैं कि भगवानों को भी जातियों में बांटने की कोशिश हो रही है. अस्‍पतालों में मरीजों के इलाज से पहले उनकी जातियां पूछी जा रही हैं.
First Published: Saturday, January 12, 2019 01:47 PM

RELATED TAG: Main Points Of Mayawati Akhilesh Yadav Joint Press Conference For Loksabha Election 2019,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें
Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो