नोटबंदी से पूरे देश में गरीबी और बेरोजगारी बढ़ी है: मायावती

News State Bureau  |   Updated On : May 14, 2019 01:18:21 PM
मायावती (फाइल फोटो)

मायावती (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  भाजपा को बताया धन्नासेठों की पार्टी
  •  अखिलेश यादव और अजीत सिंह रहे मौजूद

नई दिल्ली:  

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) के सातवें चरण के लिए सभी दल अपने प्रचार-प्रसार में जुट गए हैं. मंगलवार को बलिया (Ballia) के बेलेथरा रोड पर सपा-बसपा-आरएलडी गठबंधन की संयुक्त रैली रही. जहां बसपा सुप्रीमो मायावती (Mayawati) ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा.

मायावती ने कहा कि भाजपा की सरकार में गरीबों के साथ लगातार अन्याय ही हुआ है. चाहे वह किसी भी वर्ग के हों. समान्य वर्ग के गरीबों के लिए भी भाजपा ने कुछ नहीं किया है. भाजपा की सरकार केवल धन्नासेठों की सरकार बनकर रह गई है. भाजपा की सरकार लगातार संविधान के साथ खिलवाड़ करने का प्रयास कर रही है. लगातार आरक्षण को खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है. अगर गठबंधन की सरकार बनी तो प्राइवेट सेक्टर में भी आरक्षण की व्यवस्था की जाएगी.

मायावती ने कहा कि भाजपा की सरकार ने पिछले पांच साल में कोई भी काम प्लानिंग के साथ नहीं किया. नोटबंदी और जीएसटी को बिना प्लानिंग के साथ लागू किया गया. जिसके कारण आज पूरे देश में गरीबी फैली हुई है. सांप्रदायिकता पर बोलते हुए मायावती ने कहा कि भाजपा के लोग केवल नफरत फैलाने की कोशिश करते हैं. वह लोगों को लड़ा कर केवल वोट लेना चाहते हैं.

पूरे देश मे दलितों-आदिवासियों के आरक्षण का कोटा अधूरा पड़ा है. केंद्र और अधिकांश राज्यों में बीजेपी की सरकार में विकास रुक गया है अपरकास्ट समाज के गरीबों की हालत भी काफी खराब है. बीजेपी की सरकार में देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं हैं. आतंकवाद बढ़ गया है. देश के जवान लगातार शहीद हो रहे हैं लेकिन यह इसे भी भुना रहे हैं.

बीजेपी ने देश मे पिछले चुनावी घोषणा पत्र में अच्छे दिन का वायदा किया था. लेकिन वो कांग्रेस के सरकार की तरह खोखले साबित हुए. कांग्रेस 6 हजार रुपये महीने देने की बात कर रही है लेकिन यदि हमें केंद्र में सरकार बनाने का मौका मिलता है तो हम सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्रों में नौकरी की व्यवस्था करेंगे.

अभी तक हुए चुनाव में गठबंधन को एकतरफा वोट मिले हैं. इससे बीजेपी काफी घबराई और चिंतित है. इनके लटके चेहरे बता रहे हैं कि मोदी की सरकार जा रही है. 23 मई के बाद इनके बुरे दिन आने शुरू हो जाएंगे. अमित शाह और मोदी के बाद योगी के भी मठ में जाने की शुरुआत हो जाएगी.

गठबंधन की इस रैली में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और रालोद अध्यक्ष अजीत सिंह भी मौजूद रहे.

First Published: May 14, 2019 01:13:23 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो