यूपी का कैंसर वाला गांव, जहां नहीं आ रहा लड़कों के लिए रिश्‍ता

यूपी के बिजनौर का जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग जनता के स्वास्थ्य को लेकर गंभीर नहीं दिखाई दे रहा है.

News State Bureau  |   Reported By  :  MAHENDRA SINGH   |   Updated On : January 10, 2019 11:15 AM
बिजनौर जिले के थाना मंडावर क्षेत्र का रायपुर बेरीसाल गांव पिछले कई सालों से कैंसर की चपेट में है

बिजनौर जिले के थाना मंडावर क्षेत्र का रायपुर बेरीसाल गांव पिछले कई सालों से कैंसर की चपेट में है

बिजनौर:  

केंद्र और उत्तर प्रदेश की सरकारें जनता के लिए स्वास्थ्य योजनाओं पर भले ही करोड़ों रुपए पानी की तरह बहा रही हो, लेकिन यूपी के बिजनौर का जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग जनता के स्वास्थ्य को लेकर गंभीर नहीं दिखाई दे रहा है. स्वास्थ्य विभाग की अनदेखी के चलते जनपद का एक गांव कैंसर वाला गांव कहलाने लगा है एक तरफ़ जहां इस गांव में अब तक दर्जनों लोग कैंसर की चपेट मेंआकर अपनी जिंदगी गवां चुके हैं तो वहीं कई और ग्रामीण कैंसर से जिंदगी और मौत की जंग लड़ रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः IAS बी चंद्रकला ने CBI छापों को बताया चुनावी, बोलीं- चुनावी छापा तो पड़ता रहेगा…

उत्तर प्रदेश के बिजनौर जिले का एक ऐसा गांव जिसे अब लोग कैंसर वाला गांव के नाम से जानने लगे हैं इस गांव में अब तक दर्जनों लोग कैंसर के गाल में समा कर अपनी जिंदगी गवां चुके हैं तो वहीं कई और कैंसर से जिंदगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे हैं. बिजनौर जिले के थाना मंडावर क्षेत्र का रायपुर बेरीसाल गांव पिछले कई सालों से कैंसर की चपेट में है. इस गांव के लोग कैंसर की बीमारी से मौत के मुंह में जा रहे हैं, जिससे गांव में पिछले 4 - 5 साल में 25 से 30 मौत हो गई हैं और अभी भी कई ग्रामीण कैंसर की चपेट में हैं.

यह भी पढ़ेंः जाको राखे...8 साल के बच्‍चे के पेट के आरपार हो गई लकड़ी, खुद चलकर पहुंचा घर, देखें VIDEO

ग्रामीणों का आरोप है की पानी काफी कम समय से खराब है. जिसके चलते गांव को बीमारियों ने घेर रखा है. गाँव मे फैला कैंसर ज्यादातर ग्रामीणों की मौत का कारण बन रहा है बीमारी के कारण ग्रामीण दहशत में जीने को मजबूर है, ग्रामीणों का यह भी कहना है कि इस बीमारी के चलते दूसरे गांव के लोग अपनी लड़की का रिश्ता लाने में भी कतराने लगे हैं और कोई भी लोग यहां पर अपनी लड़की की शादी करने को तैयार नहीं है गांव के हालात बदतर होते जा रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः 33 साल से केवल चाय पीकर जिंदा है यह महिला, चाय वाली चाची के नाम से हैं मशहूर

ग्रामीणों की मानें तो वे गांव में कैंसर फैलने की जानकारी जिलाधिकारी बिजनौर और सीएमओ को दे चुके हैं लेकिन कोई भी इस मामले में गंभीर नहीं नजर आ रहा है. आज भी गांव में कैंसर की महामारी फैली है इतना सब कुछ बताने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग कुंभकरण की नींद सोया है और गांव में लगातार कैंसर से मौतें हो रही हैं 12 हजार की आबादी वाले इस गांव में पिछले 5 सालों में 30 से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं, उधर प्रशासन ने आज तक यह पता लगाने की कोशिश नहीं की कि आखिर इस गांव में कैंसर इतनी तेजी से क्यों फैल रहा है.

यह भी पढ़ेंः अयोध्‍या विवाद पर नई बेंच अब 29 जनवरी को बैठेगी, जज यूयू ललित केस से हटे

वहीं स्वास्थ्य अधिकारी ने दावा किया की गांव में कैंसर स्पेशलिस्ट डॉक्टरों की टीम जांच के लिए भेजी जाएगी. लेकिन अभी तक इस गांव में कोई भी स्वास्थ्य कर्मचारी नहीं पहुंचा. वहीं कैंसर से इतनी मौतें हो जाने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग अभी तक कोई कार्यवाही नहीं कर पाया है ऐसे में बढ़ा सवाल यह खड़ा होता है कि क्या गांव में कैंसर जैसी बीमारी को देखते हुए कोई कैंप लगना चाहिए या नहीं ? अगर ऐसा होता और समय से स्वास्थ्य विभाग की टीम इस गांव में पहुंचकर कैंसर के लिए कोई जांच करती तो शायद कई जाने बचाई जा सकती थी.

First Published: Thursday, January 10, 2019 11:13 AM

RELATED TAG: Cancer Village, Uttar Pradesh, 30 People Died, Health, Cause Of Cancer,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें
Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो