Indian Railways: ट्रेन 1 घंटे से अधिक लेट हुई तो मिलेगा मुआवजा, पढ़ें पूरी खबर

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : August 26, 2019 11:54:56 AM
Indian Railways-IRCTC-तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) - फाइल फोटो

Indian Railways-IRCTC-तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) - फाइल फोटो

नई दिल्ली:  

Indian Railways-IRCTC: भारत में रेल यात्रियों को ट्रेनों के देरी से चलने की आदत है. बता दें कि देश में ट्रेनों का देरी चलना बेहद आम बात है, लेकिन अब ट्रेनों के लेट होने पर यात्रियों को एक बड़ी राहत मिलने जा रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक देश की पहली प्राइवेट ट्रेन (Private Train) तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) में यात्रा करने वाले यात्रियों को ट्रेन के लेट होने पर मुआवजा दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें: खुशखबरी: 1 घंटे से भी कम समय में मिल जाएगा होम और कार लोन

रिपोर्ट्स के मुताबिक एक घंटे से अधिक की देरी होने पर ट्रेन यात्री मुआवजे के हकदार होंगे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक भारतीय रेलवे ने देश की पहली प्राइवेट ट्रेन (Private Train) तेजस एक्सप्रेस (Tejas Express) को प्राइवेट कंपनियों को देने का फैसला कर लिया है. बता दें कि IRCTC को अहमदाबाद-मुंबई सेंट्रल तेजस एक्सप्रेस और दिल्ली-लखनऊ तेजस एक्सप्रेस को पायलट प्रोजेक्ट के तहत सौंपे जाने की संभावना है. गौरतलब है कि तेजस एक्सप्रेस में लगने वाला किराया मांग के आधार पर तय होगा. तेजस एक्सप्रेस को शुरू करने की घोषणा वर्ष 2016 में हुई थी.

यह भी पढ़ें: SBI के बाद ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) ने भी सस्ता किया लोन

3 साल के लिए चलाने के लिए मिलेगी जिम्मेदारी
पायलट प्रोजेक्ट के तहत इन 2 ट्रेनों को 3 साल की अवधि के लिए रेलवे की पर्यटन एवं खानपान शाखा (IRCTC) को सौंपा जाएगा. रेलवे बोर्ड (Railway Board) के ब्लूप्रिंट के मुताबिक इन ट्रेनों में कोई भी छूट नहीं मिलेगी. इसके अलावा तेजस की जिम्मेदारी IRCTC को मिलने के बाद इन ट्रेनों में टिकट चेंकिंग का जिम्मा रेलवे स्टाफ के पास नहीं रहेगा. इसके अलावा इन ट्रेनों का नंबर भी अलग तरह रखा जाएगा. इन ट्रेनों का परिचालन रेलवे स्टाफ-लोको, पायलट, गार्ड और स्टेशन मास्टर द्वारा किया जाएगा.

First Published: Aug 26, 2019 11:54:56 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो