BREAKING NEWS
  • मुश्ताक अहमद बोले- भारत-पाकिस्तान के बीच संबंधों को सुधारने के लिए करना चाहिए ये काम- Read More »
  • अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला मुसलमानों को स्वीकार करना चाहिए: VHP- Read More »
  • Today History: आज ही के दिन WHO ने एशिया के चेचक मुक्त होने की घोषणा की थी, जानें आज का इतिहास- Read More »

BJP नेता मुकुल रॉय ने ममता बनर्जी को बताया ‘खूनी मुख्यमंत्री’ कहा- नहीं करेगा इतिहास माफ

News State Bureau  |   Updated On : June 11, 2019 01:09:06 PM
पश्चिम बंगाल: BJP कार्यकर्ता की हत्या

पश्चिम बंगाल: BJP कार्यकर्ता की हत्या (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

पश्चिम बंगाल में जय श्री राम का नारा लगाने की कीमत बीजेपी कार्यकर्ताओं को अपनी जान देकर चुकाना पड़ रहा है. यहां बीजेपी-टीएमसी के बीच हुई हिंसा रुकने का नाम नहीं ले रही है.आए-दिन कार्यकर्ताओं की मौत की खबरें सामने आ रही है. बंगाल के हावड़ा जिले में 'जय श्री राम' बोलने पर बीजेपी कार्यकर्ता की हत्या की कर दी गई है. बीजेपी ने दावा करते हुए कहा है कि पार्टी के समर्थक को 'जय श्री राम' बोलने पर टीएमसी के कार्यकर्ताओ ने उनकी हत्या कर दी.' तृणमूल कांग्रेस के विधायक समीर पांजा ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि निष्पक्ष जांच के बाद ही सच सामने आएगा.

पुलिस ने 43 साल के समतुल डोलोई की मौत की पुष्टि की है, जिसका शव अमता थाना क्षेत्र के सरपोता गांव में खेत में मिला. हालांकि मौत के कारणों पर अधिकारियों ने कुछ भी नहीं कहा. बीजेपी जिलाध्यक्ष अनुपम मुलिक ने इस हत्या के लिए टीएमसी को जिम्मेदार ठहराया है.

ये भी पढ़ें: बंगाल में नहीं थम रहा हत्याओं का सिलसिला, बम फटने से 2 लोगों की मौत

स्थानीय सूत्रों के मुताबिक, डोलोई रविवार रात एक समारोह में गया था लेकिन घर नहीं लौटा. उसका शव सोमवार को मिला जिसके गले में फंदा था. बीजेपी की हावड़ा ग्रामीण इकाई के अध्यक्ष अनुपम मलिक ने दावा किया कि डोलोई उनकी पार्टी का समर्थक था और 'जय श्री राम' बोलने पर तृणमूल कांग्रेस के लोगों ने उसकी हत्या कर दी. वहीं तृणमूल कांग्रेस के विधायक समीर पांजा ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि निष्पक्ष जांच के बाद ही सच सामने आएगा.

वहीं बंगाल के संदेशखाली में बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने कहा, 'ये जो अन्याय अत्याचार ममता कर रही हैं इतिहास उन्हें माफ नहीं करेगा. मैं उन्हें खूनी मुख्यमंत्री की उपाधि देता हूं. राज्य सरकार की पुलिस पर हमारी आस्था नहीं है...ममता सरकार में केई जांच नहीं हुई और केन्द्रीय जांच करने पर ये बाधा पहुंचाएंगे.' बता दें कि मुकुल रॉय राजनीतिक हिंसा में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ता के श्राद्ध में शामिल होने के लिए संदेशखाली पहुंचे हुए है.

और पढ़ें: बंगाल में नहीं थम रहा हत्याओं का सिलसिला, बम फटने से 2 लोगों की मौत

गौरतलब है कि कुछ दिन पहले पश्चिम बंगाल के 24 परगना में टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई थी. जिसमें चार लोगों की मौत हो गई थी. मामले की जांच कर रही पुलिस के अनुसार यह पूरा मामला पार्टी के झंडे को उतारने से शुरू हुआ था.

First Published: Jun 11, 2019 12:21:59 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो