अब ममता बनर्जी को Get Well Soon के कार्ड भेजेगी BJP, ये है वजह

News State Bureau  |   Updated On : June 03, 2019 01:58:18 PM

नई दिल्ली:  

पश्चिम बंगाला में टीएमसी और बीजेपी के बीच जय श्री राम नारों को लेकर चल रही जंग थमने का नाम ले रही है. पिछले दिनों सोशल मीडिया पर ममता बनर्जी का एक वीडियो काफी वायरल हुआ था जिसमें वो बीजेपी कार्यकर्ताओं के जय श्री राम के नारे लगाने पर भड़क उठी थीं. इस घटना के बाद बीजेपी अब ममता बनर्जी को 'Get Well Soon' के मैसेज भेजने की तैयारी में हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा, ' उन्हीं की वजह से सोशल मीडिया पर कई तरह के मीम्स बनाए जा रहे हैं. ' उन्होंने कहा, 'हम उन्हें 'Get Well Soon' के कार्ड भेजेंगे. दीदी के साथ कुछ तो ठीक नहीं हैं और उन्हें इसका जवाब देना पड़ेगा. उन्होंने आगे कहा, ' ममता बनर्जी को इतने सालों का अनुभव है लेकिन फिलहाल उनका जो रवैया है वो नॉर्मल नहीं है. उन्हें कुछ भी करने से पहले अपनी पद की गरिमा ख्याल रखना चाहिए. उन्हें कुछ दिनों की छुट्टी ले लेनी चाहिए'

फेसबुक, ट्विटर पर TMC ने बदली डीपी

दूसरी तरफ टीएमसी ने भी बंगाल में जारी हंगामें के बाद सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे ट्विटर और फेसबुक पर अपनी डिस्पले पिक्चर (डीपी) रविवार रात को बदल दी और उनकी डीपी में अब 'जय हिंद, जंय बांग्ला' नजर आ रहा है. इससे पहले दिन, एक विस्तृत फेसबुक पोस्ट में बनर्जी ने बीजेपी पर धर्म को राजनीति के साथ मिलाने का आरोप लगाया और लोगों से किसी भी तरह की अराजकता और अशांति को रोकने का आग्रह किया.

महात्मा गांधी, क्रांतिकारी नेता नेताजी सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह, मातंगिनी हाजरा, नोबेल पुरस्कार विजेता कवि रवींद्रनाथ टैगोर, और कवि काजी नजरूल इस्लाम की तस्वीरों के साथ तृणमूल के आधिकारिक ट्विटर और फेसबुक अकाउंट की डीपी भी बदलकर 'जय हिंद, जय बांग्ला' कर दी गई.

क्या लिखा फेसबुक पोस्ट में?

बनर्जी ने अपने फेसबुक पोस्ट में लिखा, "जय सिया राम, जय राम जी की, राम नाम सत्य है आदि धार्मिक और सामाजिक धारणाएं हैं. हम इन भावनाओं का सम्मान करते हैं. लेकिन बीजेपी धर्म को राजनीति के साथ मिलाकर धार्मिक नारे जय श्री राम का अपने पार्टी के नारे के रूप में गलत तरीके से इस्तेमाल कर रही है." उन्होंने कहा, "हम तथाकथित आरएसएस के नाम पर दूसरों पर राजनीतिक नारों को थोपने का सम्मान नहीं करते जिसे बंगाल ने कभी स्वीकार नहीं किया. यह बर्बरता और हिंसा के माध्यम से नफरत की विचारधारा को बेचने का एक जानबूझकर किया जा रहा प्रयास है जिसका हमें विरोध करना चाहिए."

यह स्पष्ट करते हुए कि उन्हें किसी भी पार्टी के नारे के साथ कोई समस्या नहीं है, उन्होंने लिखा, "प्रत्येक राजनीतिक दल का अपना नारा होता है. मेरी पार्टी के पास जय हिंद, वंदे मातरम का नारा है. वामपंथियों का नारा है इंकलाब जिंदाबाद. अन्य पार्टियों के अलग-अलग नारे हैं. हम एक-दूसरे का सम्मान करते हैं."

हेलो की जगह कार्यकर्ता बोले 'जय बांग्ला, जय हिन्द'

इससे पहले बताया ये भी जा रहा था कि टीएमसी  ने अपने कार्यकर्ताओं को नोटिस जारी कर कहा है कि  फोन उठाने पर हेलो की बजाय उन्हें 'जय बांग्ला, जय हिन्द' बोलना पड़ेगा, तभी आगे की बात होगी. 

First Published: Jun 03, 2019 01:58:14 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो