BREAKING NEWS
  • Nude Photo Shoot: सोशल मीडिया पर धमाल मचा रहा है मराठी एक्ट्रेस का फोटोशूट, फैंस हुए बेकाबू- Read More »

कानपुर के सरकारी अस्पताल में सिजेरियन के लिए महिला ने झुमके बेंच कर जुटाए पैसे

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : October 13, 2019 09:56:44 AM
प्रतीकात्मक फोटो।

प्रतीकात्मक फोटो। (Photo Credit : फाइल फोटो )

कानपुर:  

कानपुर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिवराजपुर में सिजेरियन सर्जरी के लिए गर्भवती महिला से 5 हजार रुपये की वसूली का मामला सामने आया है. अस्पताल के कर्मियों ने महिला से 5 हजार रुपये मांगे. क्योंकि उस महिला के पास पांच हजार रुपये नहीं थे इसलिए उसने कान के सोने के टॉप्स को गिरवी रख दिया. मामला सामने आने के बाद कानपुर के CMO डॉ अशोक शुक्ला ने चिकित्सा अधीक्षक डॉ अनुज दीक्षित को इस मामले की जांच करने को कहा है.

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड में गुलदारों और बाघों की संख्या बढ़ी, अब ग्रामीणों को ज्यादा खतरा

मामला शिवराजपुर सीएचसी का है जहां गौरन निवादा की रहने वाली रश्मि को दो दिन पहले प्रसव पीड़ा शुरू हुई. जिसके बाद परिजन उन्हें शिवराजपुर सीएचसी ले गए. रश्मि की मां कलावती ने बताया कि स्टाफ नर्स और दूसरे कर्मचारियों ने कहा कि इंतजार करो, सामान्य डिलीवरी हो जाएगी.

यह भी पढ़ें- ठेकेदार की जरा सी चूक से गई थी 18 की जान, अब होगी कार्रवाई 

लेकिन शनिवार को अचानक अस्पताल के कर्मचारियों ने कहा कि 15 मिनट में सीजेरियन करना होगा. नहीं किया तो जच्चा-बच्चा दोनों की जान को खतरा होगा. डॉक्टरों ने तुरंत पांच हजार रुपये की व्यवस्था करने को कहा. कलावती के मुताबिक उसके पास पैसे नहीं थे और उसे पैसे का इंतजाम करना होगा.

यह भी पढ़ें- रामपुर में झलका आजम खान का दर्द, कहा-बता दो मेरी खता क्या है...मुझे इंसाफ दो

इसके बाद अस्पताल के कर्मचारियों ने कहा कि अगर पैसे न हो तो अपने झुमके गिरवी रख दो. कर्मचारी ने साहूकार को अस्पताल में ही बुला लिया. साहूकार ने महिला के जेवर लेकर 5 हजार रुपये दे दिए. रुपये देने के बाद डॉक्टरों ने सीजेरियन किया. सरकारी हॉस्पिटल में इस तरह का मामला सामने आने के बाद स्वास्थ्य महकमें में हड़कंप मच गया.

यह भी पढ़ें- अयोध्या मामलाः मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने कहा- हमारे पक्ष में ही आएगा सुप्रीम कोर्ट का फैसला

कानपुर के सीएमओ डॉ. अशोक शुक्ला ने चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अनुजदीक्षित को जांच का आदेश दिया है. CMO का कहना है कि अगर महिला उस कर्मचारी की पहचान कर लेती है जिसने झुमके गिरवी रखवाए तो उससे पूरी कीमत दिलाई जाएगी.

First Published: Oct 13, 2019 09:33:01 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो