BREAKING NEWS
  • INX Media case: CBI ने दिल्ली HC में पी. चिदंबरम की जमानत याचिका का किया विरोध- Read More »

यूपी के इस गांव की हर मां अपने एक बेटे को करेगी भारतीय सेना के नाम, पाकिस्तान को खत्म करना है एकमात्र मकसद

Sunil Chaurasia  |   Updated On : February 19, 2019 12:56:46 PM
अच्छेजा गांव गौतमबुद्ध नगर जिले के दादरी तहसील के अंतर्गत आता है.

अच्छेजा गांव गौतमबुद्ध नगर जिले के दादरी तहसील के अंतर्गत आता है.

गौतमबुद्ध नगर:  

उत्तर प्रदेश के नक्शे पर एक ऐसा गांव है, जहां के लोगों ने अपने कलेजे पर पत्थर रखकर अपने बेटों को देश के नाम करने की ठान ली है. जी हां, यूपी के इस गांव का नाम है अच्छेजा. अच्छेजा गांव गौतमबुद्ध नगर जिले के दादरी तहसील के अंतर्गत आता है. गांव के लोगों ने नम आंखों से कहा कि यदि देश को बचाना है तो हमारे देश के हर घर से हर मां अपने बेटे को सेना में भर्ती करवाएं. अपने बेटे को देश के नाम करे, ताकि पाकिस्तान का जड़ से खात्मा किया जा सके. साथ ही साथ इन लोगों का ये भी कहना था कि ये बात केवल कहने या सुनने के लिए नहीं है, इस पर जल्द से जल्द अमल करने की जरूरत है ताकि देशवाशियों को और हिंदुस्तान को बचाया जा सके. पाकिस्तान के खिलाफ आक्रोशित इन लोगों का कहना है कि पाकिस्तान का पूरी तरह से खात्मा करना होगा.

ये भी पढ़ें- जहां कोई कलेक्टर नहीं पहुंचा था, वहां अपनी पूरी टीम के साथ पहुंचे ये IAS अधिकारी

पुलवामा में CRPF के काफिले पर हुए हमले में हमारे देश के 40 जवान शहीद हो गए. जिसके बाद से हर हिंदुस्तानी सदमे में है. गुस्से से लबरेज लोगों का कहना है कि पाकिस्तान को उसी की भाषा में जवाब दिया जाना चाहिए. हमने उन नौजवानों से भी बातचीत की और पूछा कि आप डॉक्टर-इंजिनियर क्यों नहीं बनना चाहते, सेना में ही क्यों जाना चाहते हैं. हमारे इस सवाल पर युवाओं ने जवाब दिया कि पुलवामा में हुए हमले से पहले उनका मकसद था कि वे डॉक्टर-इंजीनियर बनेंगे या फिर अपना कोई बिजनेस करेंगे. लेकिन पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद उनका मकसद बदल गया. अब यहां के युवा सेना में भर्ती होना चाहते हैं और पाकिस्तान को खत्म करना ही उनका एकमात्र मकसद है.

ये भी पढ़ें- 1 बॉयफ्रेंड को लेकर आपस में भिड़ी 2 लड़कियां, छुट्टी होते ही स्कूल के बाहर हुए गैंगवार में उठा-उठा कर पटका

सेना में भर्ती होने जा रहे इन युवाओं का ये भी कहना है कि जिस तरह से पुलवामा में CRPF के काफिले पर हुए हमले में 40 जवान शहीद हुए, हम उन 40 जवानों की शहादत का बदला लेना चाहते हैं और 40 शहीद जवानों के बदले 4 हजार पाकिस्तानियों के सिर काटना चाहते हैं. इन युवाओं में इतना जोश भरा है कि अब वे गांव-गांव जाकर युवाओं से अपील करेंगे कि वे भी सेना में भर्ती हों क्योंकि देश को उनकी जरुरत है. हमले के बाद से लोग गुस्से में सड़कों पर निकल रहे हैं और पाकिस्तान से बदला लेने के लिए मोदी सरकार पर दबाव बना रहे हैं. वहीं सरकार भी एक्शन की तैयारी में है. ऐसे में खबर है कि नोएडा के आसपास के गांवों के युवाओं ने अपनी जान देश के नाम, देश की सेना के नाम करने का फैसला किया है. इन गांवों के युवाओं का मानना है कि यदि पूरे देश से हर एक घर से मां अपने एक बेटे को देश के नाम कर दे तो पाकिस्तान को आसानी से मिट्टी में मिलाया जा सकता है.

First Published: Feb 19, 2019 12:56:28 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो