उन्नाव गैंगरेप : सफदरजंग अस्पताल में भर्ती पीड़िता की हालत नाजुक, डॉक्टरों ने कहा बचने की संभावना कम

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : December 06, 2019 07:00:43 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली/उन्नाव :  

दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती उन्नाव रेप पीड़िता की हालत नाजुक बनी हुई है. शुक्रवार देर शाम जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन में सामने आया कि पीड़िता 95 फीसद जल चुकी है. उसके कई हिस्से काम नहीं कर रहे हैं. सफदरजंग अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर सुनील गुप्ता का कहना है कि पीड़िता का पूरा शरीर बुरी तरह से जला हुआ है. उसकी हालत ऐसी भी नहीं है कि उसे ठीक से पहचाना जा सके. जब उसे यहां लाया गया तो वह कुछ बोल भी पा रही थी लेकिन अब उसने बोलना भी बंद कर दिया है. शायद सांस और खाने की नली में सूजन आ गई है. वह कुछ निगल सके ऐसी भी उसकी हालत नहीं है.

यह भी पढ़ेंः उन्नाव गैंगरेप केस में आया नया मोड़, पीड़िता और आरोपी एक दूसरे को जानते थे-सूत्र

पीड़िता का बचना मुश्किल
डॉक्टरों का कहना है कि पीड़िता काफी बुरी तरह से जली हुई है. उसका दिल और दिमाग सहित शरीर के कुछ अंग काम कर रहे हैं इसके बाद भी उसका बचना मुश्किल हैं. 4 रेजीडेंट डॉक्टर हर वक्त पीड़िता की देखभाल में लगे हुए हैं. पीड़िता की देखभाल खुद एचओडी डॉक्टर शलभ की निगरानी में हो रही है. डॉक्टरों का कहना है कि घटना के शुरूआती कुछ घंटों में लगातार उतार चढ़ाव बना रहता है लेकिन सही स्थिति 48 से 72 घंटे बाद ही स्पष्ट हो सकेगी. फिलहाल पीड़िता की जो हालत हैं उसे देखकर उसके बचने की संभावना कम है.

यह भी पढ़ेंः Unnao Gang Rape Case: वेंटिलेटर पर पहुंची पीड़िता, हालत बेहद गंभीर

‘जब तक तैयार होकर आता बहन अकेले ही चल दी’
सफदरजंग अस्पताल में भर्ती उन्नाव रेप पीड़िता का बड़ा भाई भी उसके साथ है. भाई को पुलिस के पहरे में रखा गया है. भाई का कहना है कि बहन बोल भी नहीं पा रही है. उसने बताया कि घटना के एक दिन पहले वह मेरे गले लगी और कहा कि आरोपियों को कड़ी सजा दिलाना. मुझे भी उसके साथ जाना था लेकिन जैसे ही मैं तैयार होने लगा वो अकेले ही चल दी.

First Published: Dec 06, 2019 07:00:43 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो