BREAKING NEWS
  • प्यार में फेल छात्र ने मौत को लगा लिया गले, अपनी डायरी में लिखी थी ये बात- Read More »
  • अब इस वजह से लगा नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार को बड़ा झटका, जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर- Read More »
  • VIDEO : सबसे बड़ी बॉल को स्‍टीव स्‍मिथ ने कैसे पहुंचाया बाउंड्री पार, देखते रह गए फील्‍डर- Read More »

पूर्व CM अखिलेश यादव से वापस ली जाएगी Z+ सुरक्षा, मुलायम की रहेगी बरकरार , ये है कारण

News State Bureau  |   Updated On : July 23, 2019 08:06:56 AM
अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

अखिलेश यादव (फाइल फोटो)

ख़ास बातें

  •  खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के बाद लिया गया फैसला
  •  अखिलेश समेत दो दर्जन वीआईपी लोगों की सुरक्षा में होगी कटौती
  •  मुलायम सिंह यादव की सुरक्षा बरकरार रहेगी

लखनऊ:  

सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की सुरक्षा में कटौती होगी. अखिलेश यादव को मिली हुई Z+ (जेड प्लस) श्रेणी की सुरक्षा के तहत ब्लैक कैट कमांडों को हटाया जाएगा. सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्री ने हाल ही में CRPF के तहत सुरक्षा प्राप्त VIP लोगों की सुरक्षा की व्यापक समीक्षा की.

यह भी पढ़ें- दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा होगी भगवान राम की, ऊंचाई होगी 251 मीटर

इसके बाद अखिलेश यादव को दी जाने वाली एनएसजी कवर सुरक्षा को वापस लेने का फैसला लिया गया है. सूत्रों के मुताबिक अखिलेश यादव के अलावा करीब 2 दर्जन वीआईपी लोगों की सुरक्षा या तो वापस ली जाएगी या फिर उसमें कटौती की जाएगी. इसके लिए आधिकारिक आदेश जल्द ही जारी कर दिया जाएगा.

यह भी पढ़ें- सपा विधायक नाहिद हसन ने अपने बयान पर दी सफाई, कही ये बात

अभी तक यह साफ नहीं हो पाया है कि अखिलेश यादव को मिली सुरक्षा में कटौती की जाएगी या फिर पूरी तरह से वापस ली जाएगी. वहीं सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को मिली ब्लैक कैट कमांडो की सुरक्षा जारी रहेगी.

अखिलेश की सुरक्षा करते हैं 22 कमांडो

अखिलेश यादव जब 2012 में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे उस समय उन्हें यह सुरक्षा मुहैया कराई गई थी. वर्तमान में अत्याधुनिक हथियारों से लैस 22 एनएसजी कमांडो का एक विशेष दल अखिलेश यादव की सुरक्षा में तैनात रहता है. सूत्रों के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्रालय ने खतरे को देखते हुए केंद्र और राज्य की खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के आधार पर सुरक्षा में कटौती का फैसला किया है.

First Published: Jul 23, 2019 08:06:24 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो