BREAKING NEWS
  • Jharkhand Poll: पहले चरण की 13 सीटों में से इन 5 सीटों पर दिलचस्प होगा मुकाबला- Read More »
  • Srilanka Presidentia Election: भारत के लिए राहत की खबर, पूर्व रक्षा मंत्री गोटाबया राजपक्षे ने जीता - Read More »
  • VIRAL VIDEO : विराट कोहली से मिलने के लिए कैसे बाड़ फांद गया फैन, यहां देखिए- Read More »

भीड़-हिंसा के नाम पर हिन्दू धर्म और संस्कृति को बदनाम करने की गहरी साजिश- मोहन भागवत

Dalchand  |   Updated On : July 28, 2019 11:31:48 AM
मोहन भागवत (फाइल फोटो)

मोहन भागवत (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सर संघचालक मोहन भागवत का कहना है कि देश में भीड़-हिंसा के नाम पर हिन्दू धर्म और संस्कृति को बदनाम करने की गहरी साजिश रची जा रही है. मोहन भागवत ने यह बात शनिवार को वृन्दावन के वात्सल्य ग्राम में आयोजित संघ की अखिल भारतीय सामाजिक सद्भाव समिति की दो दिवसीय बैठक में कही.

यह भी पढ़ें- कांवड़ियों को लेकर भड़काऊ भाषण देने पर साध्वी प्राची के खिलाफ केस दर्ज

सर संघचालक मोहन भागवत ने कार्यक्रम में कहा, 'देशभर में हिन्दू धर्म एवं संस्कृति को बदनाम करने की गहरी साजिश रची जा रही है. कहीं भीड़-हिंसा के नाम पर सियासत करके समाज में घृणा फैलाने का काम हो रहा है तो कहीं गाय के नाम पर. कुछ राज्यों में एक योजना के तहत धर्म परिवर्तन भी कराया जा रहा है. आज देश में जो हालात हैं, उन्हें देखते हुए सभी प्रचारकों को काफी सतर्क रहने की जरूरत है.'

मोहन भागवत ने आगे कहा, 'हिन्दू धर्म की रक्षा के लिए अलग-अलग मत-पंथों और उपासना पद्धतियों के लोग साथ बैठें. यह लोग समाज में जाति एवं वर्गों के बीच पनप रहे भेदभाव को खत्म करने की कोशिश करें. अगर ऐसा होगा तो निश्चित रूप से सामाजिक स्तर पर कई समस्याएं हल होंगी.'

यह भी पढ़ें- पाकिस्तान से आए पीड़ित हिंदुओं को मिलेंगे भारत में नागरिक अधिकार, अन्य अल्पसंख्यकों को भी फायदा

इस बैठक में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब, मध्यप्रदेश, गुजरात, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक, केरल, छत्तीसगढ़, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, त्रिपुरा और मेघालय समेत सभी राज्यों से भारतीय सामाजिक सद्भाव समिति से जुड़े प्रांतीय प्रतिनिधि पहुंचे थे. बैठक में संघ के सभी प्रतिनिधियों ने अपने-अपने राज्यों की रिपोर्ट बिंदुवार रखीं. भीड़ हिंसा के नाम पर पेश की जा रही गलत तस्वीरों को भी यहां प्रचारकों ने रखा.

यह वीडियो देखें- 

First Published: Jul 28, 2019 11:31:48 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो