BREAKING NEWS
  • विरोधियों को राजद नेता तेजस्वी यादव ने दिया जवाब, कह दी ये बड़ी बात- Read More »
  • Today History: आज ही के दिन WHO ने एशिया के चेचक मुक्त होने की घोषणा की थी, जानें आज का इतिहास- Read More »
  • Horoscope, 13 November: जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन, पढ़िए 13 नवंबर का राशिफल- Read More »

मिशन चंद्रयान-2 से जुड़ी हैं MP की दीक्षा, ऐसा रहा है कटनी से ISRO का सफर

News State Bureau  |   Updated On : July 15, 2019 07:08:31 PM
दीक्षा। (फाइल फोटो)

दीक्षा। (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

कटनी:  

भारत को अंतरिक्ष में एक और उपलब्धि मिलने वाली है. भारत का चंद्रयान-2 अभियान जो पूरे देश के लिए गौरव की बात है इस क्षण के साथ कटनी के कैमोर का नाम भी अचानक सुर्खियों में आ गया है. दरअसल चंद्रयान अभियान में शामिल कैमोर में शिक्षा दीक्षा लेने वाली मेघा भट्ट इस अभियान में देश की ओर से एक बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं.

मेघा भट्ट के पिता यू.एन भट्ट एसीसी कैमोर के इंजीनियरिंग इंस्टीट्यूट के डीजल सेक्सन में इंस्ट्रक्टर थे. तब वह दो बेटियों और एक बेटे के साथ कैमोर में ही रहते थे. इस दौरान मेघा कैमोर के एसीसी मिडिल स्कूल की हिन्दी माध्यम की छात्रा थीं.

यह भी पढ़ें- साक्षी और अजितेश की शादी को न्यायालय ने ठहराया वैध, दिया यह निर्देश

कैमोर मे मिडिल स्कूल की पढ़ाई के बाद हायरसेकेन्ड्री की शिक्षा भी मेघा ने कैमोर उच्चतर मा. विद्यालय में पढ़ाई की. शिक्षा में मेघा शुरू से ही मेधावी छात्रा रहीं. इसके बाद मेघा उच्चतर अध्ययन के लिए जबलपुर में पढ़ीं. इसी बीच मेघा के पिता एसीसी से सेवानिवृत्त होकर गुजरात चले गये.

साथ ही उनका पूरा परिवार भी अहमदाबाद मे शिफ्ट हो गया. जैसे ही कल चंद्रयान अभियान से जुड़ी मेघा की खबर वायरल हुई तो कैमोर में मेघा के साथ पढ़ने वाले छात्र उनके टीचर सहित कैमोर में भट्ट फैमली को जानने वाले शुभचिंतकों की खुशी का ठिकाना नहीं रहा.

यह भी पढ़ें- सलमा अंसारी के बहाने कांग्रेस के आचार्य प्रमोद का बीजेपी पर निशाना, कह डाली यह बात

आज भी दिनभर मेघा की इस उपलब्धि पर कैमोर के लोग काफी गौरवान्वित दिखे. मेघा की बहन पूर्वी इंदौर में आई स्पेस्लिस्ट डाक्टर हैं. जबकि उनके भाई तरंग भट्ट गुजरात मे ही जॉब पर हैं. चंद्रयान अभियान में शामिल मेघा उपेन्द्र भट्ट पीआरएल अहमदाबाद में रिसर्च कर रही हैं.

मेघा चंद्रयान अभियान के लिए बेहद अहम जिम्मेदारी निभाएंगी. वे चंद्रयान के द्वारा जो डेटा भेजा जाएगा उसका एनालिसिस करेंगी. इस विश्लेषण में वह यह जानने की कोशिश करेंगी कि वहां पर मैग्नेट, मैग्नीशियम आदि तत्व किस प्रकार के हैं. तत्वों ने किस तरह आकार ले रखा है.

यह भी पढ़ें- न दाढ़ी खींची गई, न जयश्री राम का नारा लगवाया गया, इस वजह से हुई थी मौलाना की पिटाई

चंद्रयान अभियान में कटनी में पली बढ़ी मेघा भट्ट के शामिल होने से कैमोर ही नहीं कटनी जिला और पूरा मध्यप्रदेश गौरवान्वित है. देश के कुछ चुनिंदा साइंटिस्ट ही इस अभियान से जुड़े हैं. ऐसे में एक छोटे से शहर में हिन्दी मीडियम की छात्रा ने वह कर दिखाया जिसकी कोई कल्पना भी नहीं कर सकता.

First Published: Jul 15, 2019 04:15:43 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो