कमलेश तिवारी हत्याकांड : हत्यारोपियों के मददगार मौलाना कैफी अली रिजवी को मिली जमानत

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : December 04, 2019 11:22:24 AM
कमलेश तिवारी।

कमलेश तिवारी। (Photo Credit : फाइल फोटो )

लखनऊ:  

हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के नेता कमलेश तिवारी के हत्यारोपियों (Kamlesh Tiwari Murder Case) के मददगार को जमानत मिल गई है. हत्यारोपियों को मदद के आरोपी बरेली के मौलाना कैफी अली रिजवी को प्रभारी सीजेएम कोर्ट ने जमानत दे दी. प्रभारी मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सुदेश कुमार ने 20-20 हजार रुपये की दो जमानतें एवं निजी मुचलका दाखिल करने पर मौलाना कैफी अली को रिहा करने का आदेश दिया है.

यह भी पढ़ें- बजाज की चीनी मिलों पर किसानों का 10 हजार करोड़ बकाया, डर तो लगेगा ही, BJP सांसद बोले

आपको बता दें कि मौलाना कैफी अली रिजवी पर आरोप है कि उसने 18 अक्टूबर को कमलेश तिवारी की हत्या किए जाने के बाद हत्यारोपी आशफाक और मोईनुद्दीन को अपने घर में शरण दी थी. इतना ही नहीं उसने आरोपियों को आर्थिक मदद के साथ इलाज भी कराया था. मामले की जांच कर रही एसआईटी ने सबूतों के आधार पर मौलाना को 22 अक्टूबर को बरेली से गिरफ्तार किया था.

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश: राजभवन को 10 दिनों में उड़ाने की धमकी, इस नक्सली संगठन ने दी धमकी

मामले में साजिशकर्ता समेत आधा दर्जन आरोपी जेल में हैं. मौलाना के वकील ने कोर्ट में तर्क दिया कि जिस आरोप में उसे गिरफ्तार किया गया है वह जमानती हैं. लिहाजा उसके मुवक्किल को जमानत मिलनी चाहिए. इस तर्क को सुनने के बाद प्रभारी मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सुदेश कुमार ने 20-20 हजार रुपये की दो जमानतें एवं निजी मुचलका दाखिल करने पर रिहाई का आदेश दिया.

First Published: Dec 04, 2019 11:11:08 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो