BHU विवाद : महंत नरेंद्र गिरी ने किया डॉ फिरोज खान का समर्थन, कहा...

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : November 22, 2019 02:58:03 PM
प्रतीकात्मक फोटो।

प्रतीकात्मक फोटो। (Photo Credit : फाइल फोटो )

प्रयागराज/वाराणसी:  

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के संस्कृत विद्या धर्म विभाग में एक मुस्लिम प्रोफेसर की नियुक्ति को लेकर लगातार विवाद जारी है. छात्रों का प्रदर्शन अभी भी जारी है. वहीं बीएचयू में ही छात्रों और प्रोफेसरों का एक धड़ा प्रोफेसर फिरोज खान के समर्थन में खड़ा है. बीएचयू के विरला छात्रावास के छात्रों ने बीएचयू के कुलपति का गैर हिन्दू शिक्षक के नियुक्ति के विरोध में पुतला फूंक.

अखाड़ा परिषद ने किया समर्थन

एक ओर छात्र जहां डॉ. फिरोज की नियुक्ति का विरोध कर रहे हैं. वहीं साधु संतों की संस्था अखाड़ा परिषद फिरोज खान के साथ खड़ा है. अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने बीएचयू के छात्रों से अपील की है कि वह अपने प्रदर्शन को वापस लेकर विश्वविद्यालय के हित में फिरोज खान की नियुक्ति का समर्थन करें.

महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि पहले जब गुरुकुल परंपरा होती थी तब ऐसा होता था कि एक खास वर्ग के लोगों का चयन होता था. जो समय के हिसाब से उचित था. लेकिन आज 21वीं सदी में भारत में हर मजहब के लोग हर भाषा का ज्ञान रखते हैं. यह उनका संवैधानिक अधिकार भी है. ऐसे में अगर एक मुस्लिम प्रोफेसर संस्कृत पढ़ा रहा है तो इसमें कुछ गलत नहीं है, हमें उनका स्वागत करना चाहिए.

क्या है विवाद

हफ्ते भर से बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में छात्रों के द्वारा लगातार संस्कृत विभाग के प्रोफेसर फिरोज खान की नियुक्ति का विरोध किया जा रहा है. ऐसा इस लिए क्योंकि वह एक मुस्लिम हैं. छात्रों का कहना है कि उनसे संसकृत का ज्ञान लिया जा सकता है. लेकिन धर्म का नहीं.

First Published: Nov 22, 2019 02:58:03 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो