BREAKING NEWS
  • Gold Rate Today 14 Nov 2019: इंट्राडे में सोने-चांदी में तेजी आएगी या मंदी, एक्सपर्ट्स से जानें बेहतरीन टिप्स- Read More »
  • जब विराट कोहली को लगा कि उनकी दुनिया ही खत्‍म हो गई, यह उन दिनों की बात है- Read More »
  • फिल्म 'पानीपत' के बहाने RSS को ये क्‍या कह गए पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी- Read More »

कमलेश तिवारी हत्याकांड में चौथा आरोपी गिरफ्तार, हत्यारों के संपर्क में था असीम अली

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : October 21, 2019 06:25:24 PM
कमलेश तिवारी हत्याकांड

कमलेश तिवारी हत्याकांड (Photo Credit : (फाइल फोटो) )

नई दिल्ली:  

हिंदू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की हत्या (Kamlesh Tiwari Murder) का कनेक्शन नागपुर से भी है. इस मामले में महाराष्ट्र एटीएस ने नागपुर से चौधे संदिग्ध आरोपी सैय्यद असीम अली को गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि कमलेश तिवारी की हत्या के दौरान सैय्यद असीम अली लगातार हत्यारों से संपर्क में था. यूपी पुलिस ने सैय्यद असीम अली को नागपुर कोर्ट के सामने पेश कर उसकी ट्रांजिट रिमांड हासिल की है.

यह भी पढ़ेंः करतारपुर कॉरिडोर पर 23 अक्टूबर को समझौता करेगा भारत, पाकिस्तान ने भी जताई सहमति

एएनआई के अनुसार, यह पता चला कि संदिग्ध सैय्यद असीम अली लगातार कमलेश तिवारी की हत्या के दौरान अन्य आरोपियों के संपर्क में था. उसने इस मामले में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. महाराष्ट्र एटीएम ने उसे महाराष्ट्र के नागपुर से किया है. एटीएम के अधिकारियों का कहना है कि नागपुर एटीएस यूनिट को जानकारी मिली थी कि कमलेश तिवारी की हत्या में एक संदिग्ध सैय्यद आसिम अली भी शामिल था. इसके बाद नागपुर इकाई ने उसे गिरफ्तार कर पूछताछ की.

बता दें कि यूपी पुलिस ने कमलेश तिवारी हत्याकांड को 24 घंटे में सुलझाने का दावा किया है. इस हत्याकांड का मास्टमाइंड रशीद पठान नाम का शख्स है. उत्तर प्रदेश पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने शनिवार को कहा था कि इस मामले में अब तक तीन आरोपी रशीद अहमद पठान, मौलाना मोहसिन शेख और फैजान को गिरफ्तार किया है.

वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कमलेश तिवारी हत्याकांड पर कहा कि जो भी आरोपी इस घटना में शामिल होगा, किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने अपने एक बयान में कहा, भय पैदा करने वाले जो भी तत्व होंगे, उनके मंसूबों को हम सख्ती के साथ कुचलकर रख देंगे. किसी भी प्रकार की वारदात स्वीकार नहीं की जाएगी.

यह भी पढ़ेंः रविशंकर प्रसाद बोले- भारत के साथ ये सेवा बंद करके PAK ने अंतरराष्ट्रीय नियमों का किया उल्लंघन

सीएम योगी ने कहा था कि हत्यारे जिस रूप में आए और सुरक्षा गार्ड से पूछकर कमरे में गए, कमलेश के साथ जलपान किया और उनके निजी सहायक और बेटे को कुछ सामान खरीदने के लिए बाजार में भेज दिया. जब वे अकेले हो गए, तब उनकी हत्या कर दी गई, इससे लगता है कि हत्यारे शातिर अपराधी थे.

इस बीच लखनऊ के कमिश्नर मुकेश मेश्राम ने कमलेश तिवारी के सीतापुर के मुहम्मदाबाद स्थित पैतृक निवास में उनके परिवार से मुलाकात की. उन्होंने पीड़ित परिवार को सांत्वना देते हुए न्याय दिलाने की बात कही. कमिश्नर द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि कमलेश के परिजनों को सुरक्षा दी जाएगी. हम उनके लिए एक सरकारी आवास की सिफारिश कर रहे हैं. साथ ही आत्मरक्षा के लिए उनके बड़े बेटे को एक लाइसेंसी हथियार दिया जाएगा. उसकी नौकरी के लिए भी सिफारिश की जाएगी और परिजनों की आर्थिक मदद भी की जाएगी.

First Published: Oct 21, 2019 06:00:00 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो