BREAKING NEWS
  • क्षुद्रग्रह पृथ्वी को अंततः मार देगा और हमारे पास अभी तक इससे बचने का कोई उपाय नहीं है: एलोन मस्क- Read More »
  • कश्मीर मुद्दे पर अपने ही घर में घिरे इमरान खान, सरकार गिराने की तैयारी में जुटा विपक्ष- Read More »
  • पाकिस्‍तान में बैठे दाऊद की भारत में साजिश, जानिए तिहाड़ जेल में क्‍या करा रहा मुंबई दंगों का आरोपी- Read More »

मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी बोले, 'मध्यस्थता के लिए और समय मिले'

News State Bureau  |   Updated On : July 18, 2019 03:45 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:  

अयोध्या मामले के मुस्लिम पक्षकार इकबाल अंसारी का मानना है कि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा गठित मध्यस्थता समिति को और समय दिया जाना चाहिए जिससे सभी पक्षों के हितों पर विचार किया जा सके. उनका यह बयान ऐसे समय में आया है जब दशकों पुराने मामले की शीघ्र सुनवाई और फैसले के लिए दायर याचिकाओं मद्देनजर शीर्ष अदालत के आदेश पर तीन सदस्यीय समिति गुरुवार को मामले की स्थिति रिपोर्ट पेश करने वाली है.

यह भी पढ़ें- बरेली मामले में एक और बड़ा खुलासा, साक्षी मिश्रा को बहन बुलाता था अजितेश

विवादित भूमि के मुद्दई अंसारी ने कहा, "मैंने मध्यस्थता समिति बनाने के सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय का स्वागत किया था और अगर समिति को और ज्यादा समय मिले तो इसका इसका समाधान निकल सकता है. शीर्ष अदालत या समिति जो भी निर्णय लेगी, मैं उसे स्वीकार करूंगा."

यह भी पढ़ें- योगी सरकार का बड़ा फैसला, मदरसों के छात्रों को दी जाएगी NCC की ट्रेनिंग

मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली सर्वोच्च न्यायालय की पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने आठ मार्च को मध्यस्थों की एक समिति गठित की थी, जिसके अध्यक्ष सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति एफ.एम. खलीफुल्ला हैं.

यह भी पढ़ें- रवि किशन का वीडियो वायरल, पुलिस कर्मी से कहा- 'आइए पांडे जी, आपने चुनाव में बहुत मदद की है'

शीर्ष अदालत ने आदेश दिया था कि मध्यस्थता फैजाबाद में एक सप्ताह में शुरू हो जाएगी और समिति अपनी रिपोर्ट चार सप्ताह में दाखिल करेगी. समिति ने सात मई को सील बंद दस्तावेजों में अंतरिम रिपोर्ट सौंपी थी जिसके बाद समिति के आग्रह पर सर्वोच्च न्यायालय ने उसे कोई मैत्रीपूर्ण समाधान निकालने के लिए 15 अगस्त तक का समय दिया था.

यह भी पढ़ें- किसानों के लिए नया आविष्कार, ड्रोन से हो सकेगा खाद का छिड़काव, जानें कैसे करेगा काम

इसके बाद 11 जुलाई को संविधान पीठ ने मध्यस्थता समिति से 18 जुलाई तक स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कहा था. अंसारी ने कहा कि चूंकि इसमें कई पक्ष हैं और समिति के सदस्यों को सबकी बात सुननी है इसलिए समिति को और ज्यादा समय मिलना चाहिए.

उन्होंने कहा कि वे सर्वोच्च न्यायालय के आदेश का पालन करेंगे. उन्होंने कहा, "राजनीति के कारण ही इस मामले में देरी हुई जो अब तक सुलझ जाना चाहिए था."

First Published: Thursday, July 18, 2019 03:45:50 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Ayodhya, Supreme Court, Ikbal Ansari, Ram Mandir,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

न्यूज़ फीचर

वीडियो