फर्रुखाबाद बंधक संकट खत्म: सभी 23 बच्चे सुरक्षित बरामद, पुलिस कार्रवाई में मारा गया आरोपी

News State Bureau  |   Updated On : January 31, 2020 11:43:59 AM
फर्रुखाबाद बंधक संकट खत्म: सभी 23 बच्चे सुरक्षित बरामद, पुलिस कार्रवाई में मारा गया आरोपी

फर्रुखाबादः सभी बच्चे सुरक्षित बरामद, पुलिस कार्रवाई में ढेर हुआ आरोपी (Photo Credit : ANI )

फर्रुखाबाद:  

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के फर्रुखाबाद में करीब 10 घंटे तक चला बंधक संकट खत्म हो गया है. पुलिस (Police) ने जवाबी कार्रवाई सुभाष बाथम नाम के शातिर को मार गिराया है. इस कार्रवाई में उसकी पत्नी रूबी भी घायल हो गई, जिसकी बाद में इलाज के दौरान मौत हो गई. पुलिस ने सभी 23 बच्चों को सकुशल बरामद कर लिया है. पूरा मामला फर्रुखाबाद (Farrukhabad) जिले के मोहम्मदाबाद थाना क्षेत्र के किर्था गांव का है. अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी (Awanish Kumar Awasthi) ने इसकी पुष्टि की है.

यह भी पढ़ेंः बांद्रा कोर्ट ने डा. कफील खान को ट्रांजिट रिमांड पर यूपी पुलिस की स्‍पेशल टास्‍क फोर्स को सौंपा

यूपी के अतिरिक्त मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि बच्चों को बंधक बनाकर रखने वाले व्यक्ति को एक ऑपरेशन में मार दिया गया है और सभी बच्चों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने यूपी पुलिस और इसकी टीम के लिए 10 लाख रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की है, जिसने इस अभियान को सफलतापूर्वक अंजाम दिया. ऑपरेशन में भाग लेने वाले सभी कर्मियों को प्रशंसा पत्र दिया जाएगा.

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) ओपी सिंह ने बताया कि यह ऑपरेशन करीब 8 घंटे चला. हमने उसे रचनात्मक रूप से बातचीत के माध्यम से संलग्न करने की कोशिश की, लेकिन हमें जानकारी मिली कि उसके पास गोलीबारी की क्षमता है और संभावना है कि उसके पास विस्फोटक थे. वह विस्फोट करने की धमकी दे रहा था.

यह भी पढ़ेंः बसंत पंचमी के साथ शुरू हुई 40 दिन तक चलने वाली होली, जानें पूरा कार्यक्रम

दरअसल, सुभाष बाथम के आरोपी ने पड़ोसियों से दुश्मनी के कारण बच्चों को बंधक बनाया था. सुभाष ने जन्मदिन के बहाने आसपास के बच्चों और अन्य लोगों को अपने घर पर बुलाया और थोड़ी देर बाद सभी को एक साथ एक कमरे में बंद कर दिया. जब पुलिस और प्रशासन के अधिकारी वहां पहुंचे तो उस सिरफिरे ने पुलिस पर फायरिंग भी की थी. उत्तर प्रदेश पुलिस लगातार उस घर पर नजरें गड़ाए बैठी रही. पुलिस बिना किसी जोखिम के उन्हें सुरक्षित निकालने के प्रयास कर रही थी.

इसके बाद इसके बाद यूपी पुलिस और एटीएस की टीम ने देर रात उसे मार गिराया और सभी बच्चों को उसके घर से सुरक्षित निकाल लिया गया. सभी 23 बच्चों को जब पुलिस ने सुरक्षित बाहर निकाला तब भी सभी बच्चे डरे सहमे थे. हर बच्चा अपने माता पिता के पास जाना चाहता था. इस मामले पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खुद नजर रख रहे थे और उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बैठक कर उन्हें घटनास्थल पर रहने का निर्देश दिया था.

यह वीडियो देखेंः

First Published: Jan 31, 2020 06:53:08 AM

न्यूज़ फीचर

वीडियो