बांदा: कर्ज से परेशान किसान ने की आत्महत्या

Bhasha  |   Updated On : July 15, 2019 06:37:27 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो (Photo Credit : )

बांदा:  

बांदा जिले की नरैनी कोतवाली क्षेत्र में एक किसान ने सरकारी कर्ज और साहूकारों के कर्ज से परेशान होकर रविवार को फांसी लगाकर कथित रूप से आत्महत्या कर ली. नरैनी कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक दुर्गविजय सिंह ने सोमवार को बताया कि मुगौरा गांव निवासी लाला धोबी (62) रविवार सुबह अपने खेतों की तरफ शौच के लिए गया था, काफी देर तक वापस नहीं आने पर परिजनों ने उसकी तलाश की तो शव खेत में लगे बबूल के पेड़ पर फांसी के फंदे से लटका मिला.

यह भी पढ़ें- न दाढ़ी खींची गई, न जयश्री राम का नारा लगवाया गया, इस वजह से हुई थी मौलाना की पिटाई

धोबी चार बीघा कृषि भूमि का मालिक था. परिजनों के हवाले से उन्होंने बताया कि धोबी पर किसान क्रेडिट कार्ड के तहत आर्यावर्त बैंक का 70 हजार रुपये का सरकारी कर्ज और गांव के साहूकारों का करीब दो लाख रुपये कर्ज था.

यह भी पढ़ें- पत्नी ने कॉलेज में घुसकर लेक्चरर पति को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, पुलिस के आने से पहले ही हो गई फरार

पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंप कर घटना की सूचना उपजिलाधिकारी को दे दी गयी है.नरैनी तहसील की उपजिलाधिकारी वन्दिता श्रीवास्तव ने आज बताया कि धोबी की पत्नी बुंदिया करीब एक साल से बीमार है और वह इलाज कराने में अक्षम था. शायद आर्थिक तंगी से परेशान होकर उसने यह कदम उठाया.

यह भी पढ़ें- लखनऊ: बच्चों की स्कूल वैन बस से टकराई, तीन बच्चे जख्मी

उन्होंने बताया कि कर्ज के संबंध में भी सूचना मिली है. लेखपाल से पूरे मामले की रिपोर्ट मंगवाई गयी है. मृतक के आश्रितों को सरकारी आर्थिक मदद दिलाई जाएगी.

First Published: Jul 15, 2019 02:15:39 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो