अभिषेक सिंघवी ने लिखा- 'हलाला जायज और एक्टिंग हराम', मौलाना ने दिया ये जवाब

News State Bureau  |   Updated On : July 05, 2019 08:01:26 AM
अभिषेक मनु सिंघवी (फाइल फोटो)

अभिषेक मनु सिंघवी (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

देवबंद:  

कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी (Abhishek Manu Singhvi) ने अपने सोशल मीडिया पेज पर लिखा कि इस्लाम में ऐक्टिंग हराम है और हलाला जायज है. क्या ऐसे ही हिंदुस्तान का मुसलमान तरक़्क़ी करेगा. उनके इस बयान पर मुस्लिम धर्मगुरुओं ने सख़्त नाराज़गी का जाहिर की है.

यह भी पढ़ें- वाराणसी में मौसेरी बहनों ने आपस में रचाई शादी, ये बताया कारण

जमीयत दावतुल मुसलमीन के संरक्षक व प्रसिद्ध आलिम दीन देवबंदी उलेमा मौलाना क़ारी इसहाक़ गोरा ने कहा है कि कांग्रेसी नेता सिंघवी को अपना बयान वापस लेकर जनता से माफ़ी मांगनी चाहिए. उन्होंने सवाल पूछते हुए कहा कि क्या अभिषेक सिंघवी को मालूम है हलाला क्या होता है.

यह भी पढ़ें- No One Killed Krishnanand Rai, तो 400 राउंड गोलियां क्या अपने आप चलीं

बिना तहकीकात के बोलने वाला बुद्धिजीवी में निहायत बेवक़ूफ़ माना जाता है. गोरा ने कहा कि वह उनकी नालिज के लिए बता दें कि इस्लाम में हलाला इसलिए आया है कि लोग तलाक़ जैसी चीज़ों से बचें. कारी इसहाक़ गोरा ने सवाल पूछते हुए कहा कि क्या मुसलमान ऐक्टिंग से तरक़्क़ी करेगा.

अभिषेक सिंधवि को चाहिए कि वह फ़िलहाल अपनी पार्टी कांग्रेस की तरक़्क़ी के बारे में सोचें. गोरा ने कहा कि सिंघवी ऐसे बेतुके बयानत देकर क्या साबित करना चाहते हैं. उनके पार्टी के सब वोट तो ख़त्म हो गए हैं. क्या जो गिने-चुने वोट हैं वो भी ख़त्म करवा कर दम लेंगे.

यह भी पढ़ें- UP पुलिस मुखबिरी योजना: कट्टा पकड़वाने पर एक हजार, पिस्टल पर पांच हजार, देखें रेट लिस्ट

क़ारी इसहाक़ गोरा ने कहा कि हमारा मुल्क लोकतंत्र है. हर आदमी को आज़ादी है वह कैसे ज़िंदगी गुज़ारे. किसी को किसी की निजी ज़िन्दगी में दखलअंदाजजी करने की बिलकुल इजाज़त नहीं है.

First Published: Jul 04, 2019 01:53:08 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो