गुरुनानक देव जी के 550वें प्रकाश उत्सव पर CM योगी के इस काम की तारीफ हो रही है

Yogendra Mishra  |   Updated On : July 09, 2019 01:50:44 PM
सत्संग में मौजूद सीएम योगी आदित्यनाथ।

सत्संग में मौजूद सीएम योगी आदित्यनाथ। (Photo Credit : )

लखनऊ:  

Guru Nanak's 550th Birth Anniversary

गुरुनानक देव जी के 550 वे प्रकाश उत्सव के मौके पर मुख्यमंत्री आवास में कीर्तन का आयोजन किया गया. खुद सीएम योगी (CM Yogi Adityanath) भी इसमें मौजूद रहे. यह पहली बार है जब मुख्यमंत्री आवास में सिखों के लिए लंगर व कीर्तन की व्यवस्था हुई है.

यह भी पढ़ें- सुहागरात का VIDEO बना डाला पति ने, फिर दुल्‍हन ने किया ऐसा काम कि...

अयोध्या में दीपावली मानाने की परंपरा शुरू करने के साथ पहली बार उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने सिखों के लिए मुख्यमंत्री आवास में श्री गुरु नानक जी (Guru Nanak Prakash Utsav) के 550वें प्रकाशोत्सव पर कीर्तन का आयोजन किया है. भजन कीर्तन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) खुद भी शामिल रहे.

यह भी पढ़ें- BJP में शामिल होने के बाद मथुरा में ये क्या बोल गईं 'सपना चौधरी'

कीर्तन के साथ ही दोपहर में लंगर का आयोजन भी किया गया है. यहां सम्मान समारोह भी होगा. श्री गुरु नानक देव (Guru Nanak 550th Prakash Utsav) के 550वें प्रकाशोत्सव के सिलसिले में आज लखनऊ से अयोध्या तक गुरुनानक संदेश यात्रा भी निकाली जाएगी. सीएम योगी इस यात्रा को रवाना करेंगे. सिख समाज में मुख्यमंत्री योगी की इस पहल को लेकर काफी उत्साह है.

यह भी पढ़ें- CM साहब! इधर पत्नी से रात भर होता रहा गैंगरेप, उधर पति को बेरहमी से पीटती रही UP पुलिस

आपको बता दें कि यह पहली बार है जब सीएम आवास पर सिर्फ श्रद्धालुओं के लिए लंगर का आयोजन किया गया है. मुख्यमंत्री आवास पर पहली बार सिखों के लिए लंगर व कीर्तन का आयोजन हुआ है. सिख समुदाय के 200 से 250 लोग लंगर में प्रसाद ग्रहण करेंगे.

सीएम योगी ने सख्त आदेश दिया है कि जहां-जहां गुरुनानक के चरण पड़े हैं वहां पर सरकारी आयोजन किए जाएंगे. यह आयोजन आजमगढ़, वाराणसी, अयोध्या और पीलीभीत में भी किया जाएगा.

क्या बोले योगी

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गुरुनानक देव के 550वें प्रकाश पर्व का शुभारंभ होने जा रहा है. संदेश यात्रा आज रवाना हो रही है जो अयोध्या तक जाएगी. कीर्तन में शामिल होने का मुझे सौभाग्य मिला. प्रकाश पर्व को सभी को मनाना चाहिए क्योंकि गुरु परंपरा सिर्फ सिखों के लिए नही हैं. 

सभी भारतीय इस गुरु परंपरा का सम्मान करते हैं. सीएम आवास पर हुए कीर्तन पर मुझे बेहद खुशी है. जब बाबर के अत्याचार से धरती कांप रही थी तब भी गुरु नानक जी ने उसकी बर्बरता के खिलाफ आवाज उठाने में कोई कमी नही छोड़ी. शस्त्र और शास्त्र का जो समन्वय यहाँ है, वैसा कहीं भी देखने को नहीं मिलता. ये गुरु कृपा ही है कि कोई भी सिख कभी सर नहीं झुकता.

First Published: Jul 09, 2019 01:04:15 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो