मंत्रालय में परिवारवाद न आए इस लिए योगी ने नए मंत्रियों को दी ये सलाह

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : August 22, 2019 09:44:49 AM
योगी आदित्यनाथ। (फाइल फोटो)

योगी आदित्यनाथ। (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  23 नए मंत्री योगी मंत्रिमंडल में हुए शामिल
  •  मंत्रियों को पोस्टिंग में भ्रष्टाचार से दूर रहने को कहा
  •  5 मंत्रियों को मिला है प्रमोशन, 4 को हटाया गया

लखनऊ:  

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को मंत्रिमंडल विस्तार के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि अच्छा काम करने वालों को प्रमोट किया गया है. मंत्रिमंडल में 23 नए सहयोगी शामिल किए गए हैं. इसमें 18 नए चेहरे शामिल हैं. ये सभी अनुभवी हैं, और इन सभी का लाभ पूरे प्रदेश को मिलेगा.

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश सरकार के 4 मंत्रियों से यूं ही नहीं लिए गए इस्तीफे, जानिए पूरा कारण

बुधवार को योगी ने नवनियुक्त और पुराने मंत्रियों के साथ बैठक की. दो टूक में योगी ने मंत्रियों को नैतिकता का पाठ पढ़ाया. उन्होंने कहा कि मंत्री ट्रांसफर-पोस्टिंग में भ्रष्टाचार से दूर रहें. साथ ही उन्होंने कहा कि सार्वजनिक जीवन में होने के नाते वह अपने कार्यों में परिवार का हस्तक्षेप न होने दें. सीएम योगी ने यह भी कहा कि मंत्री अपने पर्सनल स्टाफ की गतिविधियों पर भी नजर रखें.

यह भी पढ़ें- सैफई में 150 छात्र हो गए गंजे, उनके डर की वजह जान हैरान रह जाएंगे आप 

योगी ने पत्रकारों से कहा, "दो साल पांच माह बाद सरकार का पहला पुनर्गठन हुआ है. विकास के मापदंडों को पूरा करने के लिए बेहतर काम हुआ. प्रदेश में पहले बिजली व्यवस्था बहुत खराब थी, अब सभी जिला मुख्यालयों को 24 घंटे और ग्रामीण इलाकों में 18 घंटे बिजली दे रहे हैं. उल्लेखनीय कार्य करने वालों को प्रमोट किया गया है."

यह भी पढ़ें- आजम खान के खिलाफ दायर याचिका पर 4 सितंबर को होगी सुनवाई, जानें क्या है मामला 

उन्होंने कहा, "डॉ. महेंद्र सिंह ने अपने विभाग में अच्छा कार्य किया है. 12 राष्ट्रीय पुरस्कार उन्होंने अपने विभाग को दिलाए. प्रधानमंत्री आवास योजना और मनरेगा में रिकॉर्ड रोजगार उपलब्ध कराने में डॉ़ महेंद्र सिंह की बहुत बड़ी भूमिका रही है."

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, "सुरेश राणा ने बहुत बढ़िया काम किया है. 10 वर्षो में जितना गन्ना मूल्य का भुगतान समाजवादी पार्टी और बहुजन समाजवादी पार्टी के कार्यकाल में नहीं हुआ था, उतना मात्र दो वर्ष में 72 हजार करोड़ रुपये गन्ना मूल्य का भुगतान किसानों को कराने में उनको सफलता प्राप्त हुई. बंद चीनी मिलों को चालू करवाया."

यह भी पढ़ें- कैबिनेट का विस्तार: योगी के नए मंत्रियों के बारे में कितना जानते हैं आप 

योगी ने कहा, "चौधरी भूपेंद्र सिंह पंचायती राज के स्वतंत्र प्रभार के मंत्री थे. उन्होंने पंचायती राज में रिकॉर्ड एक करोड़ 60 लाख से अधिक शौचालय बनाने के साथ साथ पंचायती राज्य व्यवस्था में बड़ा योगदान दिया है. इस दृष्टि से उन्हें कैबिनेट मंत्री के रूप में लिया गया है."

उन्होंने कहा, "अनिल राजभर स्वतंत्र प्रभार के राज्यमंत्री थे. उन्होंने अपने विभाग में उल्लेखनीय कार्य किया. होमगार्डो के साथ-साथ विभाग में बड़ा योगदान दिया. इस दृष्टि से उन्हें कैबिनेट मंत्री के रूप में प्रमोट किया गया है."

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश : वाहन चोर गिरोह का पुलिस ने किया भंडाफोड़, सात गिरफ्तार

मुख्यमंत्री ने कहा, "नीलकंठ तिवारी ने अच्छा काम किया, इसलिए प्रमोशन हुआ. विधि और न्याय विभाग के साथ-साथ सूचना विभाग में भी अपना अच्छा कार्य देने की जिम्मेदारी निभाई. संगठन में या सरकार में अच्छा कार्य किया है, उन्हें राज्यमंत्री से प्रमोट करके स्वतंत्र प्रभार का राज्य मंत्री बनाया गया है. अच्छा कार्य करने वाले रामनरेश अग्निहोत्री को कैबिनेट मंत्री बनाया गया है." योगी ने कहा है कि प्रदेश के विकास के लिए सभी का सकारात्मक सहयोग होना चाहिए.

First Published: Aug 22, 2019 09:44:28 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो