BREAKING NEWS
  • महिला सुरक्षा को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, रेप से जुड़े मामले में 2 महीने में मिलें न्याय- Read More »

चंबल में आई बाढ़ से एक दर्जन गांव प्रभावित, घरों के बीच में चल रही नाव

अन्नू चौरसिया  |   Updated On : September 16, 2019 05:20:57 PM
पछाएं गांव की तस्वीर

पछाएं गांव की तस्वीर (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

उत्तर प्रदेश के इटावा जिले में चंबल नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. जिसकी चपेट में एक दर्जन गांव आ गए हैं. जिला प्रशासन की टीम मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू करने में जुट गई है. वहीं मौके पर नाव को मंगाकर लोगों को सुरक्षित जगह पर भेजा जा रहा है. अधिकारियों ने बाढ़ प्रभवित इलाके का दौरा भी किया है. जानकारी के अनुसार इटावा से निकली चंबल नदी का जलस्तर 125 मीटर हो जाने से नदी अपने खतरे के निशान से 5 मीटर ऊपर वह रही है. जिसक कारण पूरे जिले के करीब एक दर्जन गांव इसकी चपेट में आ गए हैं.

बाढ़ की जानकारी मिलते ही आलाधिकारी क्षेत्रो में निकलकर लोगों के रेस्क्यू करने में जुट गए हैं. वहीं नाव मंगाकर गांव के लोगों को निकाला जा रहा है तो कहीं पर ड्रोन कैमरे की मदद से इलाके की निगरानी की जा रही है.

यह भी पढ़ें-मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामला : सामने आया घटना का ऑडियो क्लिप, कही गई स्कॉर्पियो में रेप की बात

अलग-अलग क्षेत्रो में आलाधिकारी पहुंचे हैं वहीं सदर तहसील इलाके के दो गांव बसबार और पछायगांव में बाढ़ की चपेट में हैं. तो दूसरी तरफ चकरनगर तहसील इलाके में हरोली नीमाडंडा भरेह गड़ा कासदा कांछि निधि सहित कई गांव बाढ़ की चपेट में हैं जिसके लिए पीएसी पुलिस और जिला प्रशासन तेजी से कार्य करने में जुटे हैं.

यह भी पढ़ेें- आखिर क्यों राबड़ी के घर से रोते हुए निकली थीं ऐश्वर्या, पिता ने बताई ये वजह

वहीं इस मामले में मुख्य विकास अधिकारी ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद बताया कि हम लोग पूरी तरह से तैयार हैं और रेस्क्यू किया जा रहा है इसमे पीएसी पुलिस के जवान लगे हुए है. बाढ़ से हुए नुकसान का आंकलन हालात सामान्य होने के बाद ही किया जाएगा.

First Published: Sep 16, 2019 04:00:11 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो