न दाढ़ी खींची गई, न जयश्री राम का नारा लगवाया गया, इस वजह से हुई थी मौलाना की पिटाई

News State Bureau  |   Updated On : July 15, 2019 07:07:12 PM
पीड़ित मौलाना

पीड़ित मौलाना (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  मौलाना ने कहा था कि उससे जय श्रीराम बुलवाया गया
  •  मना करने पर कुछ युवकों ने उसे पीटा
  •  जांच में बयान बदलने की बात सामने आई

बागपत:  

बागपत में मौलाना की जय श्री राम का नारा ना लगाने पर पिटाई के मामले में नया मोड़ आ गया है. पुलिस की जांच में सामने आया है कि मौलाना ने झूठा आरोप लगाया है. मौलाना की ना तो दाढ़ी नोची गई और ना ही जय श्री राम का नारा लगवाने की बात कही गई.

साथ ही मौलाना पर बयान बदलने की बात कही जा रही है. बागपत जिले के रमाला क्षेत्र सीओ अनुज चौधरी का इस मामले पर बयान सामने आया है. सीओ अनुज चौधरी का कहना है कि जब मौलाना की पिटाई हुई तो इसकी सूचना मौलाना द्वारा मुजफ्फरनगर के पुलिस अधिकरियो को दी गई.

यह भी पढ़ें- पूर्व उप राष्ट्रपति की पत्नी सलमा अंसारी के बयान पर बोले उलेमा, 'मदरसे में नहीं बन सकता मंदिर'

जिसमें मौलाना ने कहा था कि 10 से ज्यादा लोगों ने ये उस पर छेड़छाड़ का आरोप लगाकर उसकी पिटाई की है. जिसके बाद सीओ बुढ़ाना ने मामला बागपत का बताकर उन्हें बागपत भेज दिया. बागपत में थाना दौघट पुलिस के सामने मौलाना ने बयान बदल दिए और कहा कि जय श्री राम का नारा न लगाने पर पिटाई की गई है.

यह भी पढ़ें- बरेली : बीजेपी विधायक के नजदीकी अरमान को 14 दिन की न्यायिक हिरासत

जिसका मुकदमा दर्ज किया गया है. सीओ के मुताबिक पहले मौलाना ने छेड़छाड़ की बात कहकर पिटाई की बात कही थी. हालांकि पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया था और जाँच में मुजफ्फरनगर जिले के बुढ़ाना कोतवाली क्षेत्र नगवा गाँव के युवको के पिटाई में शामिल होने बात सामने आई थी. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

मौलाना ने ये कहा था

मौलवी इमलाक-उर-रहमान के अनुसार, वह शनिवार को अपनी मोटरसाइकिल से अपने गांव जा रहा था, तभी कुछ युवाओं के एक समूह ने उसे रोका और उसके साथ मारपीट की. उन्होंने उसकी दाढ़ी खींची और उसे 'जय श्री राम' का नारा लगाने को कहा. उन्होंने मौलवी से कहा कि गांव में प्रवेश करने से पहले उसे अपनी दाढ़ी कटवानी होगी.

यह भी पढ़ें- साक्षी मिश्रा के पति का थाने में सपा नेता संग गुंडई का वीडियो वायरल, दर्ज हैं कई मुकदमे

यह घटना उन्नाव जिले के एक मदरसे में छात्रों को कथित रूप से 'जय श्री राम' कहने के लिए बाध्य करने के चार दिन बाद सामने आई है. उन्नाव में क्रिकेट खेलने के दौरान छात्रों पर हमला किया गया और उनसे जबरन 'जय श्री राम' बुलवाया गया.

यह भी पढ़ें- वसीम रिजवी बोले, 'मदरसों में तैयार हो रहे ISIS के आतंकी', उलेमाओं ने कहा...

मामले में चार व्यक्तियों क्रांति सिंह, आदित्य शुक्ला, कमल और एक अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है.

First Published: Jul 15, 2019 01:10:42 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो