BREAKING NEWS
  • हर दिन 1237 हादसे, हर घंटे 17 मौत, इस मौसम में सबसे ज्‍यादा Accidents- Read More »
  • देखिये खोजखबर न्यूज नेशन पर दीपक चौरसिया के साथ
  • JNU छात्रसंघ चुनाव में लेफ्ट ने लहराया परचम, आइशी घोष बनीं प्रिसिंडेट- Read More »

संसद में अखिलेश की हुई फजीहत, रविकिशन को यश भारती सम्मान देने का दावा निकला झूठा

Yogendra Mishra  |   Updated On : July 23, 2019 02:15:37 PM
प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

ख़ास बातें

  •  अखिलेश ने सदन में कहा कि सपा ने रवि किशन को यश भारती दिया
  •  वह आज भी यश भारती सम्मान की पेंशन का लाभ ले रहे हैं
  •  रविकिशन ने पुरस्कार देने के दावे को सिरे से नकारा

नई दिल्ली:  

बीजेपी सांसद रविकिशन ने संसद में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के उस दावे को खारिज कर दिया है जिसमें उन्होंने कहा था कि रविकिशन को उनकी सरकार में यश भारती सम्मान दिया गया था और वह आज भी पुरस्कार से जुड़ी पेंशन का लाभ ले रहे हैं. अखिलेश यादवा का इतना कहना था कि रविकिशन ने इस मामले में सफाई दे डाली.

यह भी पढ़ें- योगी सरकार ने पेश किया 13.5 हजार करोड़ का अनुपूरक बजट, इन योजनाओं को मिलेगी रफ्तार

सफाई भी ऐसी जिससे सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की फजीहत हो गई. रविकिशन ने अखिलेश यादव की बात को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि 'अखिलेश यादव जी ने कहा कि मुझे यश भारती मिला. जबकि ऐसा नहीं है. मुझे न तो सपा की सरकार और न ही बसपा की सरकार में यह सम्मान मिला तथा कोई सम्मान राशि भी नहीं मिली है'.

आपको बता दें कि प्रश्नकाल के दौरान पद्म पुरस्कारों से जुड़ा पूरक प्रश्न पूछने के दौरान सपा सदस्य ने कहा था कि उनकी सरकार ने यूपी में अलग-अलग क्षेत्रों से जुड़े लोगों को यश भारती सम्मान दिया है. पेंशन के तौर पर 50 हजार रुपये मासिक की राशि भी दी जाती थी.

यह भी पढ़ें- BJP विधायक बोले- 'अगर आजम पाकिस्तान जाना चाहते हैं तो मैं उन्हें माला पहनाकर बॉर्डर तक छोड़ कर आऊंगा' 

अपनी बात में जोड़ते हुए अखिलेश ने कहा कि मौजूदा सदस्य रविकिशन को भी यश भारती सम्मान मिल चुका है. यह कहने के बाद उन्होंने पूछा कि क्या सरकार पद्म पुरस्कार से सम्मानित लोगों को कोई सम्मान राशि देगी?

जेड प्लस सुरक्षा होगी वापस

सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की सुरक्षा में कटौती होगी. अखिलेश यादव को मिली हुई Z+ (जेड प्लस) श्रेणी की सुरक्षा के तहत ब्लैक कैट कमांडों को हटाया जाएगा. सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक केंद्रीय गृह मंत्री ने हाल ही में CRPF के तहत सुरक्षा प्राप्त VIP लोगों की सुरक्षा की व्यापक समीक्षा की.

यह भी पढ़ें- सोनभद्र नरसंहार की जांच बीच में लटकी, क्योंकि 1955 के दस्तावेज गायब हैं 

इसके बाद अखिलेश यादव को दी जाने वाली एनएसजी कवर सुरक्षा को वापस लेने का फैसला लिया गया है. सूत्रों के मुताबिक अखिलेश यादव के अलावा करीब 2 दर्जन वीआईपी लोगों की सुरक्षा या तो वापस ली जाएगी या फिर उसमें कटौती की जाएगी. इसके लिए आधिकारिक आदेश जल्द ही जारी कर दिया जाएगा. वहीं सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को मिली ब्लैक कैट कमांडो की सुरक्षा जारी रहेगी.

First Published: Jul 23, 2019 02:15:37 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो