'उत्तर प्रदेश में महिलाओं की सुरक्षा का सबसे खराब दौर चल रहा है'

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : December 04, 2019 11:42:35 AM
अखिलेश यादव।

अखिलेश यादव। (Photo Credit : फाइल फोटो )

लखनऊ:  

हैदराबाद में महिला डॉक्टर की हत्या के बाद पूरे देश में गुस्सा देखने को मिल रहा है. सड़क से लेकर संसद तक इस मामले पर आक्रोश देखने को मिला. हैदराबाद कांड के बाद उत्तर प्रदेश में भी रेप की कई घटनाएं देखने को मिलीं. जिसके बाद बुधवार को उत्तर प्रदेश के पूर्व CM अखिलेश यादव ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं.

यह भी पढ़ें- बजाज की चीनी मिलों पर किसानों का 10 हजार करोड़ बकाया, डर तो लगेगा ही, BJP सांसद बोले

उन्होंने फेसबुक पर एक पोस्ट लिख कर योगी सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि 'प्रदेश की बहन-बेटियों के साथ जिस प्रकार दुष्कर्म, अत्याचार व हत्याओं की ख़बरें आ रही हैं वे दिल दहलानेवाली हैं. सुरक्षा की दृष्टि से प्रदेश की लड़कियों और महिलाओं के लिए यह आज तक का सबसे ख़राब दौर है. घोर निंदनीय.'

प्रियंका वाड्रा ने साधा निशाना

कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा गांधी ने ट्वीट करके महिलाओं के मुद्दे पर योगी सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने एक ट्वीट में कहा कि 'महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले में यूपी सबसे ऊपर क्यों है इसका अंदाज़ा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 16 सितम्बर को मैनपुरी नवोदय विद्यालय की छात्रा का शव छात्रावास में मिला था. छात्रा का परिवार बार-बार प्रशासन से गुहार लगाता रहा कि सच्चाई सामने लाइए. लेकिन कुछ नहीं हुआ.

संभल और कासगंज ने किया शर्मसार

हैदराबाद में डॉक्टर की जला कर हत्या के बाद ही संभल के नखासा थाना क्षेत्र के एक कस्बे में दुष्कर्म के बाद दरिंदों ने किशोरी को जिंदा जला दिया. अस्पताल में इलाज के दौरान किशोरी की मौत हो गई. लोगों में गम और गुस्सा इस कदर था कि अंतिम संस्कार के दौरान भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात करना पड़ा. वहीं दूसरी तरफ कासगंज में भी एक नाबालिग से 4 लोगों नें गैंगरेप किया.

First Published: Dec 04, 2019 11:42:35 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो