BREAKING NEWS
  • बहरीन में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- ऐसा लग रहा कि मैं भारत में ही हूं- Read More »
  • PAK को भारत के साथ कारोबार बंद करना पड़ा भारी, अब इन चीजों के लिए चुकाने पड़ेंगे 35% ज्यादा दाम- Read More »
  • मुंबई के होटल ने 2 उबले अंडों के लिए वसूले 1,700 रुपये, जानिए क्या थी खासियत- Read More »

केरलः विवाह प्रमाणपत्र मांगने पर दोबारा शादी का फरमान, मंत्री ने लिया ये ऐक्शन

IANS  |   Updated On : July 12, 2019 03:30 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:  

केरल विवाह रजिस्ट्रार कार्यालय में चार कर्मचारियों के लिए एक मजाक उस वक्त महंगा साबित हुआ, जब उन्होंने एक व्यक्ति को उसका विवाह प्रमाणपत्र देने से मना कर दिया और कहा कि वह एक बार फिर शादी करे, तब प्रमाणपत्र मिलेगा. राज्य के पंजीकरण मंत्री जी. सुधाकरन ने 'दुर्व्यवहार और कर्तव्य का त्याग' करने पर अपने विभाग के सभी चार सरकारी कर्मचारियों को निलंबित कर दिया.

यह भी पढ़ेंः कर्नाटक के सियासी ड्रामे में आज दिन भर की 10 बड़ी बातें, जानिए कब क्या हुआ

एक फेसबुक पोस्ट में गुरुवार को सुधाकरन ने कहा कि जब उन्हें इस व्यक्ति के बारे में पता चला तो वह इस 'बकवास' को सह नहीं सके और उन्होंने तुरंत निलंबन का आदेश दे दिया. मधुसूदन कोझिकोड के मुक्कोम में सब-रजिस्ट्रार के कार्यालय में गए और शादी करने के 16 साल बाद एक विवाह प्रमाणपत्र की मांग की. कर्मचारियों ने पहले उनका मजाक उड़ाया और फिर कई दिनों तक उन्हें इंतजार करवाया, जबकि दस्तावेज अनुरोध के रूप में उसी दिन उपलब्ध कराया जाना चाहिए था.

मंत्री ने अपने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा, "मधुसूदन ने 27 फरवरी, 2003 को विशेष विवाह अधिनियम के प्रावधानों के तहत शादी की थी. उन्हें 19 जून को अपने प्रमाणपत्र की जरूरत थी और उन्होंने अपने विवाह प्रमाणपत्र की सत्यापित प्रति के लिए अनुरोध किया था." मंत्री ने कहा, "विवाह प्रमाणपत्र प्रदान करने के बजाय अधिकारियों ने उनका मजाक बनाया."

यह भी पढ़ेंः भारतीय सेना में शामिल होगी Spike Missiles, 4 किमी दूर से भेद देंगी लक्ष्य, जानिए क्या हैं खूबियां

सुधाकरन ने कहा कि कर्मचारियों ने उनसे एक बार फिर शादी करने को कहा, ताकि उन्हें पुराने रिकॉर्ड न देखने पड़े और वह जल्द विवाह प्रमाणपत्र जारी कर सकें. मंत्री ने आगे कहा कि यह प्रमाणपत्र तब वहीं दिया जा सकता था, लेकिन उन्हें तीन दिनों तक इंतजार करने के लिए कहा गया और उन्हें अपमान भी सहना पड़ा. उन्होंने कहा, "जब व्यक्ति ने अपना दुख सोशल मीडिया पर प्रकट किया, तब यह मेरे संज्ञान में आया। मैंने शीर्ष अधिकारियों को रजिस्ट्रार कार्यालय में मामले की जांच करने और रिपोर्ट सौंपने को कहा."

First Published: Friday, July 12, 2019 03:30:00 AM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Marriage Certificate, Marriage Registrar Office, Minister Action, Minister G Sudhakaran, Kerala, Kerala News,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

न्यूज़ फीचर

वीडियो