हिरासत में लिए गए कांग्रेस के बागी विधायक रोशन बेग, बीजेपी ने लगाया सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग का आरोप

News state Bureau  |   Updated On : July 16, 2019 08:22:00 AM
कांग्रेस के बागी विधायक रोशन बेग (फाइल फोटो)

कांग्रेस के बागी विधायक रोशन बेग (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  हिरासत में लिए जाने के समय चार्टर्ड प्‍लेन से कही जाने वाले थे बेग
  •  मुख्‍य अभियुक्‍त मंसूर खान ने हाल ही में एक वीडियो रिलीज किया था
  •  एसआईटी का आरोप, वीडियाे रिलीज होने के बाद भागने वाले थे बेग 

नई दिल्‍ली:  

कांग्रेस के बागी विधायक रोशन बेग को सोमवार को बेंगलुरू एयरपोर्ट पर गिरफ्तार कर लिया गया. गिरफ्तारी के समय वे चार्टर्ड प्‍लेन में सवार थे. आईएमए घोटाले की जांच कर रही एसआईटी ने उन्‍हें गिरफ्तार किया. इससे पहले उन्‍हें 19 जुलाई को पेश होने के लिए नोटिस भी भेजा गया था. घोटाले के मुख्‍य आरोपी मंसूर खान ने बताया था कि रोशन बेग ने उससे 400 करोड़ रुपये लिए थे.

यह भी पढ़ें : पूर्वोत्तर और बिहार में बाढ़ से 70 लाख लोग प्रभावित, मृतकों की संख्या 44 हुई

एसआईटी के अधिकारियों को इनपुट मिला था कि रोशन बेग चार्टर्ड प्‍लेन में सवार होकर बेंगलुरू से उड़ान भरने जा रहे हैं. सूचना पर तत्‍काल एसआईटी की टीम को वहां पहुंची और हवाई अड्डे पर उन्‍हें उतार लिया गया. उन्‍हें पूछताछ के लिए ले जाया गया. एसआईटी अधिकारियों के अनुसार, बेग पूछताछ में लगातार विरोधाभासी बयान दे रहे हैं. पहले उन्‍होंने दिल्ली जाने की बात कही और फिर अपना बयान बदल दिया. बेग से अब भी पूछताछ की जा रही है.

एसआईटी ने अपने बयान में कहा है कि रोशन बेग पूर्व मंत्री और विधायक शिवाजीनगर को केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया. उस समय वे निजी चार्टर्ड विमान से अज्ञात जगह के लिए रवाना हो रहे थे. एसआईटी ने यह भी कहा कि यह भी जांच की जाएगी कि मुख्य अभियुक्त मंसूर खान द्वारा हाल ही में वीडियो रिलीज़ करने के बाद रोशन बेग बेंगलुरू छोड़ने वाले तो नहीं थे.

यह भी पढ़ें : राजस्थान: लड़के के साथ आई युवती की होटल के कमरे में मिली लाश, पुलिस जांच में जुटी

इस मामले में विपक्ष कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री एचडी कुमारस्‍वामी पर सरकार बचाने के लिए सरकारी मशीनरी के इस्‍तेमाल का आरोप लगा रहा है, लेकिन कुमारस्‍वामी का कहना है कि एसआईटी ने हवाईअड्डे पर पूछताछ के लिए रोशन बेग को हिरासत में लिया तो वे बीएस येदियुरप्‍पा के पीएम संतोष के साथ मुंबई के लिए एक चार्टर्ड प्‍लेन से जाने की कोशिश कर रहे थे. मुझे बताया गया कि एसआईटी को देखते ही संतोष भाग गया जबकि टीम ने बेग को पकड़ लिया.

दूसरी ओर, कर्नाटक बीजेपी का कहना है कि कुमारस्‍वामी अब अपनी सरकार को बचाने के लिए सरकारी मशीनरी का उपयोग कर रहे हैं. रोशन बेग को एसआईटी के सामने पेश होने के लिए 19 जुलाई तक का समय दिया गया था तो अभी बेग को पकड़ने की क्‍या जरूरत थी. इससे पता चलता है कि राज्य सरकार अपने संस्थानों का उपयोग ब्लैकमेलिंग में कर रही है.

First Published: Jul 16, 2019 08:22:00 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो