BREAKING NEWS
  • इमरान खान के गिड़गड़ाने के बाद अमेरिका ने भारत-पाकिस्तान को दी ये नसीहत- Read More »
  • ये है दुनिया की वह टीम जो भारत को उसी की जमीन पर हराने की रखती है क्षमता, जानें कौन है वह- Read More »

कर'नाटक' का सोमवार को गिर सकता है पर्दा, बीजेपी करेगी सीएम से शक्ति परीक्षण की मांग

News State Bureau  |   Updated On : July 14, 2019 08:33:06 AM
बागी विधायक नागराज का रुख पूरी तरह से स्पष्ट नहीं

बागी विधायक नागराज का रुख पूरी तरह से स्पष्ट नहीं (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  बीजेपी कुमारस्वामी से सोमवार को विधानसभा में शक्ति परीक्षण कराने की मांग करेगी.
  •  अब तक 16 विधायकों ने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया है.
  •  पूरे दिन बातचीत के बाद भी नागराज की मंशा सपष्ट नहीं हुई.

नई दिल्ली.:  

कर्नाटक में जारी राजनीतिक संकट के बीच कांग्रेस-जदएस गठबंधन नेताओं ने अपने-अपने बागी विधायकों को मनाने की कोशिशें और तेज कर दी हैं. हालांकि गठबंधन सरकार की मुश्किलें बढ़ाते हुए पांच और विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष द्वारा इस्तीफा स्वीकार नहीं किए जाने पर उच्चतम न्यायालय का रुख किया है. इस बीच बीजेपी ने कहा है कि वह मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी से सोमवार को शक्ति परीक्षण कराने को कहेगी. पूरे दिन चली बातचीत में कांग्रेस के संकटमोचक कहे जाने वाले डीके शिवकुमार, उप मुख्यमंत्री जी परमेश्वर, सीएलपी नेता सिद्धरमैया और कुमारस्वामी शामिल थे.

यह भी पढ़ेंः तमिलनाडु में NIA ने मारे ताबड़तोड़ छापे, देश को दहलाने की फिराक में थे आतंकवादी गिरोह

नागराज ने की घर वापसी
बातचीत के बाद कांग्रेस के बागी विधायक एमटीबी नागराज ने संकेत दिया है कि वह अपना इस्तीफा वापस लेने पर विचार कर सकते हैं, लेकिन देर शाम तक इस संबंध में कोई घोषणा नहीं हुई. इस बीच बीजेपी ने स्पष्ट कर दिया है कि वह कुमारस्वामी से सोमवार को विधानसभा में शक्ति परीक्षण कराने की मांग करेगी. राज्य में जारी संकट के बीच कर्नाटक के सत्तारूढ़ कांग्रेस-जेडी (एस) गठबंधन के पांच और बागी विधायकों ने उनके इस्तीफे स्वीकार करने से विधानसभा अध्यक्ष रमेश कुमार के इनकार के खिलाफ शनिवार को उच्चतम न्यायालय का रुख किया. ये पांच विधायक आनंद सिंह, के. सुधाकर, एन. नागराज, मुनिरत्न और रोशन बेग हैं. उन्होंने कहा है कि पहले से ही लंबित दस अन्य बागी विधायकों की याचिका में उन्हें भी शामिल कर लिया जाए. इस याचिका पर मंगलवार को सुनवाई होनी है.

यह भी पढ़ेंः गाजियाबाद में एक घंटे के भीतर दो एनकाउंटर, 25 हजार के ईनामी बदमाश समेत दो गिरफ्तार

संकट सुलझने के फिलहाल आसार नहीं
कर्नाटक में गठबंधन सरकार गंभीर संकट से गुजर रही है. उसके 16 विधायकों ने विधानसभा से इस्तीफा दे दिया है. इनमें से 13 विधायक कांग्रेस के और तीन जेडी (एस) के हैं. राज्य के आवास मंत्री एमटीबी नागराज ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धरमैया सहित कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने उनसे मुलाकात की और उन्हें अपना इस्तीफा वापस लेने को कहा. नागराज होसकोट से कांग्रेस विधायक हैं. उन्होंने पिछले हफ्ते विधानसभा से इस्तीफा दे दिया था. नागराज ने 10 जुलाई को इस्तीफा दिया था. कांग्रेस नेताओं ने उनसे बात करके इस फैसले पर दोबारा विचार करने को कहा था, लेकिन पूरे दिन बातचीत के बाद भी नागराज की मंशा सपष्ट नहीं हुई.

यह भी पढ़ेंः गोपनीयता का उल्लंघन : फेसबुक को देना होगा 5 अरब डॉलर का जुर्माना

विधानसभा की गणित
विधानसभा में संभवत: अगले हफ्ते होने वाले शक्ति परीक्षण के लिए अपने-अपने विधायकों को एकजुट रखने के लिए कांग्रेस और बीजेपी, दोनों ही दलों ने अपने- अपने विधायकों को होटलों और रिजॉर्ट में भेज दिया है. सत्तारूढ़ गठबंधन में विधानसभा अध्यक्ष (स्पीकर) को छोड़कर कुल 116 विधायक (कांग्रेस के 78, जेडी (एस) के 37 और बीएसपी का 1) हैं. दो निर्दलीय विधायकों के समर्थन के साथ 224 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी के विधायकों की संख्या अब 107 है. अगर गठबंधन के 16 विधायकों के इस्तीफे मंजूर किए जाते हैं, तो सत्तारूढ़ गठबंधन के विधायकों की संख्या घट कर 100 रह जाएगी.

First Published: Jul 14, 2019 06:58:56 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो