राजस्थान की 400 बहनें रक्षाबंधन पर अपने भाइयों को नहीं भेज पाईँ राखी, जानिए क्या है वजह

अजय शर्मा  |   Updated On : August 11, 2019 07:22:43 PM

(Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  400 बहनों के अरमान राखी पर अधूरे
  •  राजस्थान से राखी नहीं भेजी गई कश्मीर
  •  कश्मीर में डाक व्यवस्थाएं थी बंद

नई दिल्ली:  

रक्षाबंधन पर 400 बहनें ओर विद्यार्थियों के अरमान रहे अधूरे, सेना के जवानों  को नही भेज पाए रक्षा सूत्र, कश्मीर में डाक सेवा बंद होने के कारण अरमान रहे अधूरे, पार्सल लेकर डाक विभाग आये लोग वापस लौटे. रक्षाबंधन रक्षा का संकल्प होता है. देश की बहनें ओर छात्र सेनाओं के जवानों को रक्षासूत्र भेजकर उनसे रक्षा का संकल्प लेना चाहते है लेकिन उनका इस बार यह अरमान अधूरा रहेगा जिसके कारण सेना को रक्षा सूत्र भेजने वाले करीब  400 बहनें ओर छात्राएं मायूस है.

दरअसल झालावाड़ के पोस्ट ऑफिस में गायत्री परिवार की ओर से सेना के जवानो के लिए करीब 400 लोगो से राखियां इकट्ठी की गयी. इन राखियों को गायत्री परिवार द्वारा कश्मीर में तैनात सेना के जवानों को भेजा जाना था. लेकिन कश्मीर में डाक सेवा बंद होने के कारण डाक विभाग ने पार्सल लेने से इंकार कर दिया ऐसे में अब इन लोगो को सेना के जवानों के पास राखियां नही पहुँच पाने का मलाल सता रहा है.

यह भी पढ़ें- हज तीर्थयात्रियों में महामारी फैलने की कोई घटना नहीं : सऊदी अरब

हालांकि डाक विभाग को कश्मीर में डाक सेवा बंद के लिए प्रन्धन निदेशक से पत्र प्राप्त हुआ है, पोस्टमास्टर का कहना है जब तक ऊपर से आदेश प्राप्त नही होते तब तक वो कश्मीर के लिए डाक की बुकिंग नही कर सकते. आपको बता दें कि पिछले कुछ समय से जम्मू-कश्मीर में ऑर्टिकल 370 को हटाने जाने को लेकर सुरक्षा अलर्ट जारी किया गया है जिसकी वजह से वहां पर टेलिफोन, इंटरनेट सहित डाक सेवाओं पर भी पाबंदी लगा दी गई है. 

यह भी पढ़ें- शाह कर्नाटक के बेलगावी और राहुल केरल के वायनाड पहुंचे, दोनों राज्यों में बाढ़ से 92 की मौत

First Published: Aug 11, 2019 07:07:14 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो