BREAKING NEWS
  • झारखंड विधानसभा चुनावः लोजपा ने 5 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी की- Read More »
  • बिहार-झारखंड की ताज़ा खबरें, 14 नवंबर 2019 की बड़ी ब्रेकिंग न्यूज़- Read More »
  • Today History: आज ही के दिन WHO ने एशिया के चेचक मुक्त होने की घोषणा की थी, जानें आज का इतिहास- Read More »

राजस्थान में राम कथा के दौरान पंडाल गिरने से 14 लोगों की मौत, 50 से अधिक घायल| PM और CM गहलोत ने जताया दुख

News State Bureau  |   Updated On : June 23, 2019 11:32:42 PM
18-people-died-and-50-injured-in-rajasthan-barmer-during-ram-katha

18-people-died-and-50-injured-in-rajasthan-barmer-during-ram-katha (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  राजस्थान में बड़ा टेंट हादसा
  •  पीएम मोदी और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दुख व्यक्त किए
  •  हादसे में 18 लोगों की मौत, 50 घायल

नई दिल्ली:  

राजस्थान के बाड़मेर जिले के बालोतरा में गंभीर हादसा हो गया. हादसे में 14 लोगों की मौत हो गई. वहीं 50 से अधिक लोग घायल हो गए. यह हादसा राम कथा के दौरान हुआ. राम कथा के दौरान पंडाल गिर गया. कथा सुन रहे श्रद्धालु पंडाल के नीचे दब गए. जिसमें 14 लोगों की मौत हो गई. सभी घायलों को उपचार के लिए नजदीक के अस्पताल में भेजा गया. घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है. हादसे के बाद क्षेत्र में अफरा-तफरी का माहौल बन गया. लोग दहशत में आ गए. घटना के बाद पुलिस भी मौके पर पहुंच गई है. इस हृदय विदारक घटना के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दुख व्यक्त किया है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख और घायलों को 2 लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की है. 

  

प्रधानमंत्री मोदी ने भी इस भयावह घटना पर दुख व्यक्त किया है. उन्होंने मृतक के परिजनों को शक्ति प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है. साथ ही घायलों को शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है. मुख्यमंत्री ने कहा कि हादसे में बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो गई. यह अत्यंत दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण है. ईश्वर से दिवंगतों की आत्मा को शांति प्रदान करने, शोकाकुल परिजनों को सम्बल देने की प्रार्थना करता हूं. घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं. उन्होंने कहा कि स्थानीय प्रशासन द्वारा राहत एवं बचाव का कार्य किया जा रहा है. सम्बंधित अधिकारियों को हादसे की जांच करने, घायलों का शीघ्र उपचार सुनिश्चित करने तथा प्रभावितों एवं उनके परिजनों को हरसंभव सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं.

यह भी पढ़ें - अब ममता बनर्जी पर मुख्तार अब्बास नकवी का हमला, बोले- 'दीदी' के संरक्षण में काम कर रहे हैं अराजक तत्व

पुलिस और प्रशासन राहत-बचाव कार्य में जुट गए हैं. बताया जा रहा है कि कथा पंडाल में एक हजार से ज्यादा श्रद्धालु मौजूद थे. अभी भी पंडाल के नीचे काफी लोग दबे हुए हैं. सभी को पंडाल से निकाला जा रहा है. राहत-बचाव कार्य जोरों पर है. अचानक पंडाल गिरने से करंट चारों तरफ फैल गया. जिससे वहां पर मौजूद श्रद्धालु करंट की चपेट में आ गए. बताया जा रहा है कि ज्यादातर मौतें करंट की चपेट में आने से हुई हैं. श्रद्धालु राम कथा सुनने में मग्न थे. इसी वक्त तेज आंधी आ गई. आंधी की वजह से टेंट हवा में उड़ा गया.

कथा सुनने आए सैकड़ों श्रद्धालु टेंट के नीचे दब गए. हादसा के वक्त अफरातफरी का माहौल हो गया. लोग दहशत में आ गए. चारों तरफ हाहाकार मच गया. लोग एक दूसरे को बचाने की जुगत में लग गए. देखते ही देखते 14 लोगों की सांसें थम गईं. वहीं 50 से अधिक लोग घायल हो गए. सभी घायलों को बालोतरा के नाहटा अस्पताल में भेजा गया. जहां सभी घायलों  का इलाज चल रहा है. पुलिस और प्रशासन मौके पर तैनात हैं.  

First Published: Jun 23, 2019 05:16:40 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो