MNS के झंडे का रंग बदलने पर उद्धव का राज ठाकरे पर तंज, कहा- हमने हिंदुत्व को दरकिनार नहीं किया

Bhasha  |   Updated On : January 24, 2020 12:03:25 AM
MNS के झंडे का रंग बदलने पर उद्धव का राज ठाकरे पर तंज, कहा- हमने हिंदुत्व को दरकिनार नहीं किया

महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

मुंबई:  

शिवसेना अध्यक्ष और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बृहस्पतिवार को कहा कि भले ही राजनीति में उन्हें नए सहयोगी मिले हैं, लेकिन उन्होंने अपना ‘भगवा’ रंग नहीं बदला है. हिंदुत्व के मुद्दे को शुरुआत से उठाते रहे उद्धव ठाकरे ने पिछले साल विधानसभा चुनाव के बाद भाजपा से अलग होकर राकांपा और कांग्रेस के साथ गठबंधन की सरकार बना ली.

यह भी पढ़ेंःMNS के झंडे का रंग बदला, राज ठाकरे बोले- PAK-बांग्लादेश के घुसपैठियों को देश से बाहर निकालने होंगे, तभी...

शिवसेना ने बृहस्पतिवार को उद्धव ठाकरे को सम्मानित करते हुए कहा कि उन्होंने बाल ठाकरे को दिया गया अपना वह वचन पूरा कर लिया जिसमें उन्होंने राज्य में शिवसेना का मुख्यमंत्री बनाने की बात कही थी. सत्ता के लिए हिंदुत्व को दरकिनार करने की आलोचना का जवाब देते हुए उद्धव ठाकरे ने कहा कि पुराने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को सहयोगी बनाकर मैंने नया राजनीतिक रास्ता अपनाया है. मैंने अपना रंग अपना अंतर्रंग नहीं बदला है. यह भगवा ही रहेगा.

उद्धव ठाकरे की यह टिप्पणी मनसे प्रमुख राज ठाकरे के उस बयान के बाद आई है जिसमें उन्होंने कहा था, मैं सरकार बनाने के लिए अपनी पार्टी का रंग नहीं बदलता हूं. बता दें कि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे (MNS Chief Raj Thackeray) ने अपनी पार्टी के झंडे का रंग बदल कर भगवा कर दिया है. उन्होंने अपने पुत्र अमित ठाकरे को भी राजनीति में उतार दिया है. मुंबई में गुरुवार को हुए एक कार्यक्रम में राज ठाकरे ने कहा कि 2006 में जब पार्टी की स्थापना की तो तब मेरे मन में जो झंडा था वह यही भगवा झंडा था. सोशल इंजीनियरिंग करना चाहिए ऐसी बातें कुछ लोगों ने कही थीं उनकी बातें मानीं पर मेरे मन में भगवा झंडा था, इसलिए मैंने झंडा का रंग बदल दिया.

MNS चीफ राज ठाकरे ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि पार्टी के पदाधिकारी एक-दूसरे के खिलाफ फेसबुक और ट्विटर पर कमेंट्स करना बंद करें, जो करेगा उसे पद से हटा दिया जाएगा. उन्होंने आगे कहा कि मैं मराठी हूं और हिन्दू भी हूं. भाषा और धर्म पर आंच नहीं आने देंगे. देश के साथ जो मुस्लिम ईमानदार हैं वह हमारे हैं. हम एपीजे अब्दुल कलाम, जावेद अख्तर, इरफान पठान को नकार नहीं सकते हैं.

यह भी पढ़ेंःDelhi Assembly Election: JP नड्डा ने कांग्रेस-AAP पर बोला हमला, कहा- पाकिस्तान मौज कर रहा था, क्योंकि...

उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी कलाकारों को बॉलीवुड से हटाने का काम एमएनएस ने किया. तब मुझे किसी ने हिंदुत्व के बारे में नहीं पूछा. धर्म का आचरण घर में होना चाहिए. मस्जिद में लाउड स्पीकर क्यों चाहिए. हमारी आरती तकलीफ नहीं देती तो नमाज क्यों तकलीफ दे. लाउड स्पीकर हटाने के बात मैंने पहले भी कहीं थी. समझौता एक्सप्रेस बंद हो. लाहौर बस सेवा बंद हो.

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष ने आगे कहा कि बांग्लादेश से ढाई-ढाई हजार रुपये में लोग भारत में आते हैं, उनको हटाना होगा. मैंने पीएम नरेंद्र मोदी पर आलोचना की पर अच्छे कदम उठाने पर अभिनंदन भी किया. महाराष्ट्र पुलिस को 48 घंटे की खुली छूट दीजिए वह घूसखोरों को बाहर निकाल देंगे. सीएए के विरोध आंदोलन में यहां के मुस्लिम कितने थे? बाहर के कितने थे? अगर बाहर के ज्यादा है तो इस आंदोलन को समर्थन क्यों दे.

First Published: Jan 23, 2020 11:52:29 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो