BREAKING NEWS
  • मोदी सरकार ने स्वयंभू बाबा नित्यानंद का पासपोर्ट किया रद्द, नए की भी अर्जी खारिज- Read More »

महाराष्ट्र: रत्नागिरी में तवरे डैम टूटने से अब तक 10 लोगों की मौत, कई अब भी लापता

News State Bureau  |   Updated On : July 04, 2019 08:10:32 AM
फोटो- एएनआई

फोटो- एएनआई (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

महाराष्ट्र में हो रही बारिश मंगलवार को लोगों के लिए आफत बनकर आई जहां एक के बाद एक कई बड़े हादसों की खबरे सामने आई. पहले मुंबई-पुणे में दीवार गिरने के तीन बड़े हादसे और फिर रत्नागिरी में डैम टूटने की खबर ने लोगों के होश उड़ा दिए. इन सभी हादसों में 45 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है.

मंगलवार रात को रत्नागिरी का तवरे डैम टूटने से मरने वालों की संख्या 10 हो गई है जबकि कई लोग अभी भी लापता बताए जा रहे हैं. इस डैम के टूटने आसपास के 12 घर पानी में बह गए जबकि 7 गांवों में बाढ़ जैसी स्थिति आने की संभावना है. फिलहाल लापता हुए ढूंढने की कोशिश की जा रही है. यह बांध साल 2000 में बना था और क्षेत्र के लोगों का दावा है कि उन्होंने दो साल पहले जिला प्रशासन को इसमें पानी रिसने की सूचना दी थी लेकिन इसकी कोई मरम्मत नहीं हुई. महाराष्ट्र के ज्यादातर हिस्से में पिछले पांच दिनों से मूसलाधार बारिश हो रही है, और मंगलवार को प्रदेश भर में बारिश से संबंधित घटनाओं में कम से कम 40 लोगों की मौत हो गई.

यह भी पढ़ें: अगले 3 दिन मध्य प्रदेश के 25 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी

बता दें, मुंबई में मंगलवार की सुबह साढ़े आठ बजे से पहले तक पिछले 24 घंटे के दौरान सबसे अधिक बारिश हुई. इससे पहले 26 जुलाई 2005 को मुंबई ऐसे ही जलप्रलय का गवाह बना था. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. सांता क्रुज में भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुंबई क्षेत्रीय केंद्र से मिले आकंड़े का हवाला देते हुए एक अधिकारी ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 375.2 मिमी बारिश हुई.

यह भी पढ़ें:  Mumbai Rain: नहीं थम रहा बारिश का कहर, अब तक 38 लोगों की मौत, बाढ़ का अलर्ट

वहीं अगर दूसरे राज्यों की बात करें तो मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में मध्य प्रदेश के 25 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. राजधानी भोपाल में सोमवार रात से रुक-रुककर शुरू हुई बारिश का सिलसिला अभी भी जारी है. मौसम विभाग ने अगले तीन दिन अच्छी बारिश की संभावना जताई है. इसकी वजह- बंगाल की खाड़ी में बना लो प्रेशर एरिया है. इसी मौसमी सिस्टम के कारण भोपाल संभाग के कई इलाकों में 15 सेमी तक बारिश हो सकती है.

First Published: Jul 04, 2019 08:10:21 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो