NCP नेताओं की इस्तीफे की मांग पर बोले अजित पवार- जल्द लूंगा फैसला

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : November 26, 2019 12:00:47 PM
अजित पवार

अजित पवार (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

एक तरफ जहां सुप्रीम कोर्ट के फैसले से फडणवीस सरकार को बड़ा झटका लगा है तो वहीं अब माना जा रहा है कि अब अजित पवार भी बीजेपी को झटका दे सकते हैं. दरअसल सूत्रों के हवाले से बताया जा रहा है कि एनसीपी नेताओं ने अजित पवार से मुलाकात कर डिप्टी सीएम पद से इस्तीफा देने की मांग की है. वहीं अजित पवार ने भी एनसीपी नेताओं से कहा है कि वो जल्द इस पर फैसला लेंगे.

अजित पवार का ये रुख ऐसे समय में सामने आया है जब  खबर थी कि वह सोमवार रात से अपने घर पर रहने के बजाए शरद पवार और सुप्रिया सुले के साथ होटल में थे. यहां तक कि वे अपने साथ सुरक्षाकर्मियों को भी लेकर नहीं गए थे. अकेले वे इन्‍नोवा गाड़ी से निकले थे. बताया जा रहा है कि देर रात से शरद पवार और सुप्रिया सुले से उनकी मीटिंग चल रही थी. आज सुबह 26/11 के शहीदों को श्रद्धांजलि देने वाले कार्यक्रम में भी अजित पवार नहीं पहुंचे. इसके अलावा एक दिन पहले मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस द्वारा बुलाई गई बैठक में भी उनकी गैरमौजूदगी चर्चा का विषय बनी हुई थी. इन सब घटनाक्रमों के बाद से बीजेपी के होश फाख्‍ता हो गए हैं. 

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर : देवेंद्र फडणवीस सरकार से इस्‍तीफा दे सकते हैं अजीत पवार

वहीं दुसरी तरफ सुप्रीम कोर्ट ने भी सीएम फडणवीस को बड़ा झटका देते हुए  बुधवार शाम 5 बजे तक बहुंत साबित करने के लिए कहा है. यानी कल ही फ्लोर टेस्ट होगा जिसमें सीएम फडणवीस को बहुमत साबित करना होगा.

बता दें, इससे पहले 23 नवंबर को बदलते घटनाक्रम में देवेंद्र फडणवीस ने मुख्‍यमंत्री पद की शपथ ले ली थी और उनके साथ एनसीपी नेता अजित पवार डिप्‍टी सीएम बन गए थे. अजित पवार के इस कदम से शरद पवार की पार्टी एनसीपी हतप्रभ रह गई थी. शरद पवार ने आनन-फानन मोर्चा संभाला और देर शाम को विधायक दल का नेता पद से अजित पवार को हटा दिया गया. अजित पवार की जगह जयंत पाटिल को विधायक दल का नेता चुन लिया गया. बाद में शरद पवार ने कहा, अजित पवार के कदम से वे किनारा करते हैं और उनके इस कदम का वे समर्थन नहीं करते हैं.

यह भी पढ़ें: देवेंद्र फडणवीस सरकार को बड़ा झटका; कल शाम 5 बजे होगा फ्लोर टेस्‍ट : सुप्रीम कोर्ट

अजित पवार के अप्रत्‍याशित कदम से महाराष्‍ट्र की राजनीति में भूचाल आ गया था. कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना सकते में आ गई थीं. तीनों दलों ने सुप्रीम कोर्ट की शरण ली, जिस पर दो दिन की सुनवाई के बाद आज मंगलवार को फैसला आना है. अब सुप्रीम कोर्ट का फैसला तय करेगा कि महाराष्‍ट्र की राजनीति किस दिशा में जाएगी. अगर सुप्रीम कोर्ट के फैसले से महाराष्ट्र की देवेंद्र फडणवीस की सरकार को झटका लगता है तो अजित पवार निश्‍चित रूप से वापसी करने में संकोच नहीं करेंगे, लेकिन अगर सुप्रीम कोर्ट का फैसला विपक्ष को झटका देगा तो शायद अजित पवार अपने फैसले पर अडिग रहेंगे.

First Published: Nov 26, 2019 11:42:16 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो