BREAKING NEWS
  • Aus Vs Pak: पांच बार की विश्‍व चैंपियन ऑस्ट्रे‍लिया का मुकाबला पाकिस्‍तान से थोड़ी देर में- Read More »
  • अलवर रेप और हत्‍या मामला : पॉक्‍सो कोर्ट ने आरोपी को सुनाई सजा-ए-मौत- Read More »
  • Bharat Box Office Collection Day 1: सलमान खान की 'भारत' ने बॉक्स ऑफिस पर ऐसे मचाया धमाल, पाए इतने करोड़- Read More »

इंदौर में प्रसूता को नर्स ने जड़े थप्पड़, कहा- 'इतना क्यों खाया कि बच्चे का वजन बढ़ गया'

News State Bureau  |   Updated On : July 13, 2019 06:41 PM
प्रतीकात्मक फोटो।

प्रतीकात्मक फोटो।

ख़ास बातें

  •  डिलीवरी में दिक्कत आने पर नर्सों ने मारे थप्पड़
  •  दूसरे अस्पताल में बच्चे को वेंटिलेटर पर रखा, लेकिन मौत हो गई
  •  डॉक्टर ने कहा कि थप्पड़ मारने की जानकारी नहीं है

इंदौर:  

मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में एक चौकाने वाला मामला सामने आया है. यहां एक निजी अस्पताल में प्रसूता के साथ बदसलूकी की गई. प्रसूता के परिजनों का आरोप है कि हॉस्पिटल स्टाफ ने प्रसूता को थप्पड़ मारा. इतना ही नहीं वहां मौजूद स्टाफ नर्स ने कहा कि इतना क्यों खा लिया कि बच्चा 4.5 किलो ग्राम का हो गया.

नर्सों की लापरवाही से बच्चे की मौत हो गई. परिजनों ने इस मामले में पुलिस से शिकायत की है. पुलिस ने हॉस्पिटल स्टाफ पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की बात कही है. न्यूज 18 की खबर के मुताबिक सन्मति नजर की रहने वाली नेहा सारड़ा की डिलीवरी होने वाली थी.

यह भी पढ़ें- घरेलु झगड़े से तंग आकर युवती ने की खुदकुशी, पहले हाथ की नस काटी और फिर...

बृहस्पतिवार की सुबह परिजन उसे 10:30 बजे राजमोहल्ला के निजी अस्पताल ले गए. अस्पताल में काफी देर तक कोई स्टाफ नहीं आया. आरोप है कि करीब 2 घंटे बाद प्रसूता को एक के बाद एक कई इंजेक्शन दिए गए. लेकिन जब दर्द कम नहीं हुआ तो स्टाफ उसे डिलीवरी के लिए ले गया.

परिजनों के मुताबिक वह पिछले 9 महीने से डॉक्टर वंदना तिवारी से इलाज करा रहे थे. जब परिजनों ने डॉक्टर वंदना को बुलाकर सिजेरियन डिलीवरी करने को कहा तो नर्सों ने प्रसूता को चांटे मारे और कहा कि इतना क्यों खाया कि बच्चा साढ़े चार किलो का हो गया.

यह भी पढ़ें- आगरा में बस हादसे के बाद ग्रामीणों को रात में नहीं आती नींद, सुनाई देती हैं चीख-पुकार

डिलीवरी के बाद नर्सों ने प्रसूता के पति को बताया कि बच्चे की धड़कन तो चल रही है लेकिन वह कोई प्रतिक्रिया नहीं दे रहा है. इसके बाद परिजनों ने दूसरे अस्पताल का रुख किया. जहां डॉ जफर पठान ने बताया कि डिलीवरी के समय लापरवाही बरती गई है. बच्चे को वेंटिलेटर पर रखा गया. लेकिन शुक्रवार को उसकी मौत हो गई.

इस मामले में डॉक्टर वंदना का कहना है कि उन्हें मारपीट की जानकारी नहीं है. प्रसूता के परिजनों की सहमति से नॉर्मल डिलीवरी का निर्णय लिया गया था. सारी रिपोर्ट्स नॉर्मल थी. रात के 11 बजे मरीज को अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. शिशु रोग विशेषज्ञ की सलाह पर बच्चे को वेंटिलेटर पर रखा गया था.

First Published: Saturday, July 13, 2019 06:37 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Madhya Pradesh News, Indore News, Slap, Nurse Slap Paitent, Madhya Pradesh News,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

अन्य ख़बरें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो