मध्य प्रदेश : श्रुति शर्मा, ईशान गुर्जर अपहरण केस में आया नया मोड़, जानें पूरा मामला

News State  |   Updated On : January 31, 2020 02:05:25 PM
मध्य प्रदेश : श्रुति शर्मा, ईशान गुर्जर अपहरण केस में आया नया मोड़, जानें पूरा मामला

Shruti Sharma (Photo Credit : File photo )

Bhopal:  

पूर्व विधानसभा सचिव सत्यनारायण शर्मा की बेटी श्रुति शर्मा पर बिल्डर के बेटे ईशान गुर्जर के अपहरण और उसकी हत्या का प्रयास करने के मामले में नया मोड़ आ गया है. पीड़ित ईशान गुर्जर ने दोबारा हुई जांच में स्वीकार किया कि उससे दबाव में शपथ पत्र दिलवाया गया था. श्रुति गुनाहगार है, उसे सजा मिलनी चाहिए. श्रुति पिछले सवा साल से फरार है. पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर रही है.

यह भी पढ़ें- लड़की की शादी पक्की हुई तो युवक ने दुष्कर्म के बाद उतारा मौत के घाट

घटना 9 नवंबर 2018 में चूनाभट्टी थाना क्षेत्र की है. बिल्डर के बेटे ईशान गुर्जर को श्रुति और उसके साथियों ने मारपीट कर चलती कार से फेंक दिया था. श्रुति का नाम एफआईआर से हटाने के लिए उस समय ईशान ने शपथ पत्र दिया था. श्रुति की मां ने वरिष्ठ अधिकारियों को पत्र लिखकर ईशान द्वारा दिए गए शपथ पत्र और श्रुति की मानसिक स्थित ठीक नहीं होने का हवाला देकर बताया था कि उनकी बेटी को फंसाया जा रहा है, इसलिए किसी दूसरे सीएसपी से मामले की दोबारा जांच कराई जानी चाहिए. मां के आवेदन पर टीटी नगर के सीएसपी उमेश तिवारी ने ईशान द्वारा दिए गए शपथ पत्र की जांच की.

श्रुति ने मारपीट की थी, कार से धक्का भी दिया था

इसमें भी श्रुति को राहत नहीं मिली. ईशान के जब दोबारा बयान हुए तो वह घटना के बाद के अपने बयान पर ही कायम रहा. उसका कहना था कि पिता के दबाव में श्रुति का नाम एफआईआर से हटाने के लिए शपथ पत्र दिया था. पिता नहीं चाहते थे कि मैं कोर्ट-कचहरी के चक्कर में रहूं. श्रुति ने भी मेरे साथ मारपीट की थी. इसके बाद मुझे कार से धक्का दिया था. श्रुति दोषी है, उसको सजा मिलनी ही चाहिए. ईशान के पिता नन्हेलाल गुर्जर का कहना है कि मेरे दबाव में ही बेटे ने शपथ पत्र दिया था. उसने जो बयान दिए हैं वह सही हैं.

यह भी पढ़ें- लड़की की शादी पक्की हुई तो युवक ने दुष्कर्म के बाद उतारा मौत के घाट

ईशान का पहले अपहरण, फिर हत्या करने का प्रयास किया था

9 नवंबर 2018 को श्रुति और उसके साथियों फरहान खान, फैजान खान, आसिम खान, रईस खान, शशांक खरे, पुनीत उपाध्याय और हैदर ने ईशान का अपहरण कर उसके साथ कार में मारपीट की थी. बाद में चूना भट्टी क्षेत्र में उसे कार से धक्का दे दिया था. इसमें ईशान को गंभीर चोट आई थीं. इस घटना के बाद से ही श्रुति और हैदर फरार है. पुलिस ने श्रुति पर 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है. पुलिस मामले में फरहान, फैजान, आसिम, रईस, शशांक और पुनीत को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है. फरहान इस बात से नाराज था कि उसकी मिमिक्री का वीडियो ईशान ने वायरल किया था.

परीक्षण के लिए सीएसपी ने पैन ड्राइव और सीडी मांगी

चूनाभट्टी पुलिस ने साक्ष्य के तौर पर घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी कैमरों के फुटेज जब्त किए थे. यह साक्ष्य पैन ड्राइव और सीडी में हैं. इसकी जब्ती भी कोर्ट में हैं. वर्तमान जांच अधिकारी ने सील बंद (पैन ड्राइव और सीडी) साक्ष्य परीक्षण करने के लिए तलब किए हैं.

श्रुति और हैदर अब तक गिरफ्तार नहीं 

जांच के बाद सीएसपी ने कहा कि सबूत श्रुति के खिलाफ हैं और वह अपराध में शामिल है, इसलिए निराकरण कोर्ट से कराना उचित होगा. इधर, पुलिस ने 31 दिसंबर 2019 को श्रुति के 7 साथियों के खिलाफ हत्या के प्रयास, अपहरण और मारपीट समेत अन्य धाराओं में चालान पेश कर दिया है. इन आरोपियों को पुलिस पूर्व में गिरफ्तार कर चुकी है. जबकि फरार चल रहे श्रुति और हैदर के खिलाफ जांच जारी है.

https://www.newsstate.com/states/madhya-pradesh/madhya-pradesh-after-heard-the-girl-marriage-date-man-raped-her-and-killed-127089.html

First Published: Jan 31, 2020 02:05:25 PM

न्यूज़ फीचर

वीडियो