BREAKING NEWS
  • CBI की पूछताछ से लेकर कोर्ट तक चिदंबरम मामले की 15 बड़ी बातें- Read More »
  • योगी मंत्रिमंडल में हुआ विभागों का बंटवारा, जानें किसे मिला कौन सा मंत्रालय- Read More »
  • PAK को भारत के साथ कारोबार बंद करना पड़ा भारी, अब इन चीजों के लिए चुकाने पड़ेंगे 35% ज्यादा दाम- Read More »

मध्य प्रदेश में होगा विधान परिषद का गठन! सरकार कर रही प्रस्ताव लाने की तैयारी

News State Bureau  |   Updated On : August 16, 2019 12:41 PM

नई दिल्ली:  

मध्य प्रदेश में अब दो सदन का विधानमंडल हो सकता है. दरअसल, मध्य प्रदेश में आने वाले समय में विधान परिषद का गठन हो सकता है. सरकार विधानसभा परिषद का प्रस्ताव तैयार कर रही है. अगले विधानसभा सत्र में सरकार इसका प्रस्ताव पेश कर सकती है. विधान परिषद का आकार 76 सदस्यीय हो सकता है. कांग्रेस के वचन पत्र में भी विधान परिषद के गठन का वादा किया था. वचन पत्र में दिए गए वादे को पूरा करने के क्रम में मध्यप्रदेश में विधान परिषद के गठन की तैयारियां तेज हो गई हैं.

यह भी पढ़ें- बिछाया जाल : आतंकी तक पहुंचने के लिए NIA अफसरों ने बेची सब्‍जी

संसदीय कार्य विभाग ने वचन पत्र के वादे को पूरा करने के लिए मसौदा बनाकर विधि विभाग को परीक्षण के लिए भेज दिया है. बताया जा रहा है कि मध्य प्रदेश में विधान परिषद के गठन का प्रावधान पहले से है, इसलिए इसमें केंद्र सरकार के अनुमोदन की जरूरत नहीं पड़ेगी. कैबिनेट की मंजूरी के बाद राज्यपाल की अधिसूचना से परिषद का गठन हो सकता है. इसके लिए अलग से वित्तीय प्रावधान जरूर करने होंगे.

सीएम कमलनाथ ने सभी विभागों को वचन पत्र पर फोकस करने के निर्देश दिए हैं. वचन पत्र में विधान परिषद के गठन का वादा किया गया है. इसके मद्देनजर संसदीय कार्य विभाग ने विधान परिषद के गठन का मसौदा तैयार करके विधि विभाग को परीक्षण के लिए भेज दिया है. एक दफे विधि विभाग ने इसे यह कहते हुए लौटा दिया था कि इसके लिए केंद्र सरकार की अनुमति लगेगी पर तब यह बताया गया कि मध्य प्रदेश में इसका प्रावधान पहले से है तो बाकी पहलुओं का परीक्षण शुरू हो गया.

यह भी पढ़ें- मध्य प्रदेश में बच्चों की रुचि के अनुरूप विकसित होंगे बाल शिक्षा केंद्र

विधानसभा परिसर में परिषद के अलग से बैठक व्यवस्था सहित अन्य इंतजाम पहले से किए गए हैं. लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम सहित कुछ कानून में संशोधन करना होगा जो केंद्र सरकार करेगी. इसके लिए कैबिनेट की मंजूरी के बाद विस में विधेयक पारित करके राज्यपाल को ओर से विधान परिषद के गठन की अधिसूचना जारी की जा सकती है. संसदीय कार्यमंत्री डॉ. गोविंद सिंह का कहना है कि विधान परिषद के गठन को लेकर कानूनी पहलुओं का परीक्षण करवाया जा रहा है.

यह वीडियो देखें- 

First Published: Friday, August 16, 2019 12:28:56 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Government Madhya Pradesh, Madhya Pradesh, Congress, Kamal Nath Govt,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

वीडियो