IT Raid: बीजेपी को अपनी हार सामने नज़र आने लगी तो दिखा रही छापे का डरः कमलनाथ

SHUBHAM GUPTA  |   Updated On : April 07, 2019 08:57:53 PM
 मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ

भोपाल:  

आयकर विभाग की कई टीमों ने रविवार को मध्य प्रदेश, दिल्ली और गोवा के 50 ठिकानों पर छापेमारी की. इसमें 500 आयकर अफसर शामिल हैं. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़, सलाहकार आरके मिगलानी, भांजे रातुल पुरी, प्रतीक जोशी और अश्विन शर्मा के ठिकाने से करीब 16 करोड़ रुपए मिलने की बात सामने आई है. इस मामले में मुख्‍यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि जब इनके पास विकास पर, अपने काम पर कुछ कहने को, बोलने को नहीं बचता है तो ये विरोधियों के ख़िलाफ़ इस तरह के हथकंडे अपनाते हैं.

यह भी पढ़ेंः VIDEO: भोपाल में हाई वोल्ट्रेज ड्रामा, MP पुलिस और सीआरपीएफ में भिड़ंत, IT की छापेमारी जारी

उन्‍होंने कहा कि आयकर छापों की सारी स्थिति अभी स्पष्ट नहीं हुई है. सारी स्थिति स्पष्ट होने पर ही इस पर कुछ कहना उचित होगा. लेकिन पूरा देश जानता है कि संवैधानिक संस्थाओ का किस तरह व किन लोगों के ख़िलाफ़ और कैसे इस्तेमाल ये लोग पिछले 5 वर्षों में करते आये हैं. इनका उपयोग कर डराने का काम करते हैं. जब इनके पास विकास पर, अपने काम पर कुछ कहने को , बोलने को नहीं बचता है तो ये विरोधियों के ख़िलाफ़ इस तरह के हथकंडे अपनाते हैं.

यह भी पढ़ेंः IT Raid: टूरिस्‍ट बनकर आई इनकम टैक्‍स अफसरों की टीम, राज्य के इंटेलिजेंस को भी नहीं लगी भनक

उन्‍होंने कहा कि जब आगामी लोकसभा चुनाव में बीजेपी को अपनी हार सामने नज़र आने लगी है तो इस तरह की कार्यवाही जानबूझकर चुनाव में लाभ लेने के लिये की जाने लगी है.
पिछले विधानसभा चुनाव में भी इन्होंने इसी तरह के सभी हथकंडे अपनाये थे. कई राजनैतिक दल व कई राज्य पिछले 5 वर्ष में इनके द्वारा अपनाये गये हथकंडो के गवाह है. हम भी इसके लिये तैयार थे. 

यह भी पढ़ेंः स्थान 50, अफसर 300, दिल्ली में सीएम कमलनाथ के करीबी आरके मिगलानी के घर पर भी छापा

हर चीज़ की निष्पक्ष जाँच हो. इस तरह के हथकंडो से हमें कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता है. इन घटनाओं से विकास के पथ पर हमारे क़दम रुकेंगे नहीं, डिगेंगे नहीं , हम डरेंगे नहीं अपितु और तेज़ी से विकास के पथ पर हम अग्रसर होंगे. प्रदेश की जनता सब सच्चाई जानती है. आगामी लोकसभा चुनाव में प्रदेश की जनता इन हरकतों का मुँहतोड़ जवाब देगी.

यह भी पढ़ेंः Loksabha Election 2019: मध्य प्रदेश से इस बार 3 महिला सांसद लोकसभा चुनाव से बाहर, जानें क्यों ?

बता दें आयकर विभाग ने रविवार को दिल्ली, मध्य प्रदेश, और गोवा के 50 ठिकानों पर छापेमारी की. इस कार्रवाई में 500 आयकर अफसर शामिल हैं. इस दौरान मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के निजी सचिव प्रवीण कक्कड़, भांजे रातुल पुरी, सलाहकार आरके मिगलानी और प्रतीक जोशी के घर की तलाशी ली गई. सूत्रों नेबताया कि ठोस इनपुट के बाद मध्य प्रदेश के भोपाल-इंदौर, गोवा और दिल्ली में एक साथ देर रात 3 बजे कार्रवाई शुरू की गई. अमिता ग्रुप और मोजर बियर के दफ्तर भी खंगाले गए.

किसने क्‍या कहा

कांग्रेस नेता केके मिश्रा का कहना है कि हमारे प्रामाणिक हमलों से तिलमिलाया बीजेपी का शीर्ष नेतृत्व ईडी, आयकर व अन्य संस्थाओं का दुरुपयोग कर कांग्रेस का मनोबल तोड़ने की नाकाम कोशिशें कर रहा है. मध्यप्रदेश कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्षा शोभा ओझा ने मुख्यमंत्री कमलनाथ के करीबियों पर की गई आयकर विभाग की कार्रवाई को, तीन राज्यों में मिली करारी हार से उत्पन्न प्रधानमंत्री मोदी की बौखलाहट बताते हुए कहा कि चुनाव के ठीक पहले कांग्रेस पार्टी की छवि खराब करने और राजनैतिक दबाव बनाने का यह असफल प्रयास है.

यह भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ : बिलासपुर में 230 अवैध नग कफ सिरप के साथ एक आरोपी गिरफ्तार

वहीं बीजेपी नेता और राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट कर कांग्रेस पर निशाना साधा है. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के निजी सचिव के घर से आयकर विभाग के छापे में करोड़ों की काली कमाई बरामद हुई, इससे एक बात तो साफ़ हो गई कि जो चोर है उसे ही चौकीदार से शिकायत है. सीएम कमलनाथ के ओएसडी के घर मिली ट्रांसफ़र उद्योग की काली कमाई से स्पष्ट हो गया है कि कांग्रेस चोर है औऱ इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की चुप्पी बताती है कि वे चोरों के सरदार हैं. पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि आयकर विभाग के छापे के बाद आज समझ में आया कि किसानों की क़र्ज़ माफ़ी का पैसा कहां जा रहा है.

First Published: Apr 07, 2019 08:32:34 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो