पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने कमलनाथ सरकार पर साधा निशाना, कही ये बड़ी बात

News State Bureau  |   Updated On : January 12, 2020 08:02:22 AM
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Photo Credit : फाइल फोटो )

ख़ास बातें

  •  मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सीएम कमलनाथ और एमपी गवर्नमेंट पर बड़ा वार किया है.
  •  शिवराज ने कहा कि, 'ये महात्मा गांधी की 150वीं जयंती का वर्ष है. इस साल में मध्य प्रदेश को ऐसा ना बनाएं कि वो शराब के नशे में डूब जाएं.
  •  शिवराज ने दावा किया कि उनके रहते एक भी शराब दुकान नहीं खुली. 

भोपाल:  

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने सीएम कमलनाथ (CM Kamalnath) और एमपी गवर्नमेंट (MP Government) पर बड़ा वार किया है. सीएम शिवराज ने कमलनाथ सरकार पर तंज कसते हुए कहा है कि कि जिस तरह से जगह-जगह शराब की दुकानें (Liquor Shop) खोलने की अनुमति दे रही है, उससे तो यही लगता है कि ये सरकार जल्द ही शराब की होम डिलीवरी भी कर सकती है. शिवराज सिंह ने कहा कि सरकार 'क्यों ना शराब की होम डिलेवरी करा दे रही. सीधे शराब घर पहुंच जाए, वहीं पियो आराम से.'

शिवराज ने कमलनाथ सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि इस सरकार ने फैसला किया है कि लाइसेंसधारी चाहे तो अपनी दुकान के साथ एक और दुकान खोल सकते हैं, ये फैसला किसी जनकल्याणकारी सरकार का नहीं है. ये फैसला शराब माफियाओं के कल्याण के लिए लिए गया है. ये नीति प्रदेश का कबाड़ा कर देगी.

यह भी पढ़ें: एयरफोर्स के विंग कमांडर ने गृह मंत्री अमित शाह बनकर राज्यपाल को किया फोन, आगे हुआ कुछ ऐसा

इसके बाद शिवराज सिंह चौहान ने अपनी सरकार के समय के काम भी गिनाने शुरू कर दिए. शिवराज ने दावा किया कि उनके रहते एक भी शराब दुकान नहीं खुली. शिवराज ने चिट्ठी में लिखा, "मेरे सीएम रहते एक भी नई शराब दुकान नहीं खुली. मैं 2005 के अंत में मुख्यमंत्री बना था. 2011 में हमने फैसला किया था कि नई शराब दुकान नहीं खुलेगी. विभाग हर साल 300 से 400 नई शराब दुकान खोलने के प्रस्ताव लेकर आया.

तर्क बहुत मिले, शराब माफिया ही तर्क देते हैं. 2011 से 2018 तक एक भी नई शराब दुकान नहीं खोली गई. आपके आबकारी आयुक्त खुद बोल रहे हैं कि मैने 78 शराब दुकानें बंद की थीं. मेरे शासन काल में 2011 से प्रदेश में एक भी नई दुकान नहीं खुली थी, बल्कि कम करने की कोशिश की थी."

यह भी पढ़ें: भोपाल में नामी गुटखा कंपनियों पर EOW का छापा, माल में मिलावट और करोड़ों की टैक्स चोरी

शिवराज ने कहा कि, 'ये महात्मा गांधी की 150वीं जयंती का वर्ष है. इस साल में मध्य प्रदेश को ऐसा ना बनाएं कि वो शराब के नशे में डूब जाएं. क्यों ना आप हर गांव में शराब दुकानें खोल दो.' पूर्व सीएम ने सीएम कमलनाथ की चिट्ठी को दिखाते हुए कहा कि क्या आपका ये तरीका माफियाओं को खत्म करने का है.

बता दें कि शराब नीति में एक नया प्रावधान जोड़ा गया है, जिसमें कहा गया है कि लाइसेंसधारी की दुकान है तो वो एक और उपदुकान शराब की खोल सकते हैं. शहर में 5 किलोमीटर के दायरे में और गांव में 10 किलोमीटर के दायरे में शराब दुकान खुल सकती है. इसके विरोध में पूर्व सीएम शिवराज सिंह ने सीएम कमनलाथ को कल चिट्ठी लिखी थी. सीएम कमलनाथ ने भी पूर्व सीएम को कल शाम ही चिट्ठी का जबाव भेज दिया है, जिसके बाद अब तक चिट्ठी पर सियासत गरमाई हुई है.

First Published: Jan 12, 2020 08:02:23 AM
Post Comment (+)

LiveScore Live Scores & Results

न्यूज़ फीचर

वीडियो