BREAKING NEWS
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिटेन के पीएम बोरिस जॉनसन दी बधाई, कहा- मिलकर आतंकवाद से लड़ने की जरूरत- Read More »
  • PAK को भारत के साथ कारोबार बंद करना पड़ा भारी, अब इन चीजों के लिए चुकाने पड़ेंगे 35% ज्यादा दाम- Read More »
  • मुंबई के होटल ने 2 उबले अंडों के लिए वसूले 1,700 रुपये, जानिए क्या थी खासियत- Read More »

इंदौर बैट कांड: आकाश विजयवर्गीय के बाद अब इन नेताओं पर गिर सकती है गाज

IANS  |   Updated On : July 05, 2019 07:52 AM

नई दिल्ली:  

मध्यप्रदेश के इंदौर में भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय द्वारा क्रिकेट के बैट से नगर निगम के अधिकारी की पिटाई किए जाने के मामले में उन्हें पार्टी की ओर से कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है. आकाश के बाद भाजपा के उन नेताओं पर कार्रवाई के आसार बनने लगे हैं, जिन्होंने खुले तौर पर आकाश के समर्थन में मोर्चा संभाला था. सूत्रों के अनुसार, पार्टी ने इंदौर में 26 जून को हुए पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट मंगा ली है, साथ ही आकाश के समर्थन में सामने आए नेताओं और जेल से छूटने पर स्वागत करने वालों की भी सूची तैयार कर ली गई है. संभावना है कि केंद्रीय नेतृत्व की राय सामने आने के बाद पार्टी की राज्य इकाई कोई बड़ा फैसला ले सकती है. इस स्थिति में आकाश के अलावा उन नेताओं पर गाज गिरना भी तय माना जा रहा है जो आकाश के साथ खड़े नजर आए थे. 

यह भी पढ़ें- 900 किलोमीटर पैदल चलकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलने दिल्ली पहुंचे दो बुजुर्ग

इंदौर के घटनाक्रम पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को दिल्ली में भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक में जो बयान दिया था, उसका असर भाजपा पर साफ नजर आ रहा है. उन्होंने कहा था कि हम ऐसा कोई नेता नहीं चाहते जो पार्टी की छवि को खराब करे. बेटा किसी का भी हो, ऐसे नेताओं को पार्टी से निकाल देना चाहिए. प्रधानमंत्री मोदी के बयान के पहले तो भाजपा नेताओं ने खुलकर आकाश के समर्थन में बयानबाजी की, मगर अब सब चुप हैं. हर मुद्दे पर मीडिया से बात करने वाले भाजपा प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह से लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी किसी तरह की प्रतिक्रिया देने से बच रहे हैं.

इंदौर में 26 जून को एक जर्जर मकान गिराने गए नगर निगम के अधिकारी धीरेंद्र बायस पर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के विधायक पुत्र आकाश विजयवर्गीय ने क्रिकेट का बल्ला चलाया था. इसके बाद भाजपा के कई नेता उनके समर्थन में आए और जब आकाश जेल से रिहा हुए तो उनका स्वागत भी हुआ. आकाश विजयवर्गीय की गिरफ्तारी के खिलाफ भाजपा समर्थक सड़कों पर उतरे थे और आकाश की रिहाई के बाद पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया था.

यह भी पढ़ें- संजय गांधी के नाम पर कमलनाथ सरकार ने शुरू की पहली योजना

इस मौके पर भाजपा के नेता महेंद्र हार्डिया, जीतू जिराती, गोपीकृष्ण नेमा, चंदू शिंदे, सुमित मिश्रा सहित कई बड़े नेता भी मौजूद थे. इतना ही नहीं, पूर्व मंत्री विजय शाह ने भी आकाश विजयवर्गीय का बचाव किया था. अब आकाश और उनका स्वागत व साथ देने वाले नेताओं के खिलाफ कार्रवाई किए जाने की संभावनाओं ने कई नेताओं की नींद उड़ा दी है. यही कारण है कि अब कोई भी नेता बोलने को तैयार नहीं है. पार्टी आने वाले एक-दो दिन में बड़ा फैसला ले सकती है.

यह भी पढ़ें- चुनाव में बीजेपी की जीत, विपक्षी दलों को हजम नहीं हो रही है, शिवराज सिंह चौहान ने दिया यह बयान

वहीं भाजपा के मीडिया संपर्क विभाग के प्रदेश संयोजक रहे अनिल सौमित्र का दर्द छलक आया. उन्हें महात्मा गांधी पर टिप्पणी करने के कारण पद गंवाना पड़ा था और पार्टी से निलंबित कर दिया गया था. सौमित्र ने आकाश को कारण बताओ नोटिस पर कहा कि मेरे साथ तो ऐसी नाइंसाफी की गई कि बिना कारण बताए ही निलंबित कर दिया गया.

यह वीडियो देखें- 

First Published: Friday, July 05, 2019 07:12:10 AM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Indore Bat Case, Akash Vijayvargiya, Bjp, Kailash Vijayvargiya, Madhya Pradesh,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

न्यूज़ फीचर

वीडियो