BREAKING NEWS
  • निर्मला सीतारमण ने की GST की दरों में कटौती की घोषणा, इन चीजों में मिलेगी राहत- Read More »

जम्मू कश्मीर: अनंतनाग में एक बार फिर हुई सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, सर्च ऑपरेशन जारी

News State Bureau  |   Updated On : June 17, 2019 01:52:41 PM
फाइल फोटो

फाइल फोटो

नई दिल्ली:  

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में एक बार फिर आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ शुरू हो गई है. दरअसल सोमवार को सुरक्षबलों को अनंतनाग के एकिंगम में एक आतंकी के छिपे होने की सूचना मिली थी जिसके बाद सुरक्षाबलों ने सर्चऑपरेशन शुरू कर दिया था. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सर्च ऑपरेशन के दौरान ही आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी थी जिसके बाद से दोनों तरफ से फायरिंग अभी जारी है. इसके अलाावा खबर लिखे जाने तक सुरक्षा बलों का सर्च ऑपरेशन भी जारी है.

यह भी पढ़ें: एक राष्ट्र एक चुनाव' पर नरेंद्र मोदी सरकार आगे बढ़ने को तैयार, 19 जून को सर्वदलीय बैठक बुलाई

जम्मू कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह का कहना है कि सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ अभी भी जारी है.

इससे पहले 8 जून को भी अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हो गई थी जिसमें एक आतंकी मारा गया था. मारा गया आतंकी जैश-ए-मोहम्‍मद का सदस्य मोहम्‍मद इकबाल बताया जा रहा था. वहीं 14 जून को पुलमावा में भी सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ हुई थी जिसमें 2 आतंकी ढेर हो गए थे. बता दें पुलवामा हमले के बाद भारत की तरफ से की गई एयरस्ट्राइक के बावजूद आतंकवादी लगातार जम्मू कश्मीर में तैनात सुरक्षा बलों पर हमले कर रहे हैं. इसी कड़ी में 12 जून को अंनतनाग में आतंकवादियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था जिसमे पांच जवान शहीद हो गए थे. वहीं जवानों ने जवाबी कार्रवाई में एक आतंकी को मार गिराया था. जानकारी के मुताबिक गाड़ी में बैठ आतंकवादी अचानक सीआरपीएफ के जवानों पर गोली चलाने लगे. जिस वक्त ये हमला हुआ उस वक्त जवान ड्यूटी पर तैनात थे.

यह भी पढ़ें: एक तरफ भारत मैदान पर दे रहा था पाकिस्तान को मात तो दूसरी तरफ सीमा पर सीजफायर तोड़ने में बिजी था पाक

जानकारी के मुताबिक इस हमले की जिम्मेदारी अल-उमर-मुजाहिदीन नाम के आतंकी संगठन ने ली है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस आतंकी संगठन का सरगना मुश्ताक अहमद जरगार है जो अपना गुट पाकिस्तान से चलाता है. जरगार, मसूद अजहर के पुराने साथियों में से एक है. कंधार कांड के बाद भारत को जिन आतंकवादियों को रिहा करना पड़ा था उनमें मसूद अजहर और शेख उमर के साथ मुश्ताक अहमद जरगार भी शामिल था.

यह भी पढ़ें: 17 वीं लोकसभा का पहला सत्र आज से, तीन तलाक जैसे कई महत्वपूर्ण बिल पर रहेगी देश की नजर

गौरतलब है कि जम्मू और कश्मीर में इस साल सुरक्षाबलों ने 6 जून तक 100 से ज्यादा आतंकियों को ढेर कर दिया है. एएनआई (ANI) के अनुसार, 2019 में सुरक्षाबलों ने अब तक 103 आतंकियों को मार गिराया है, वहीं साल 2018 में 254 आतंकी मारे गए थे.

First Published: Jun 17, 2019 08:53:21 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो